पानी पीने की ये आदत आपके लिए बना सकती है बीमारी

ठंड में ज्यादातर लोग पानी बहुत ही कम पीते हैं। लेकिनआपको पता है प्यास लगने पर पानी पीने की ये आदत आपके लिए बीमारी का कारण हो सकती है। जो लोग कम पानी पीते हैं उन्हें डिहाइड्रेशन के अतिरिक्त कई तरह के संक्रमण का खतरा भी बढ़ जाता है। ये संक्रमण फीमेल्स में ज्यादा होने की आसार होती है। ऐसा ही एक संक्रमण है सिस्टाइटिस जो पानी कम पीने के कारण ही होता है। सिस्टाइटिस एक तरह का इंफेक्शन है जो यूरेनरी ट्रेक को इफेक्ट करता है। इसके कारण ब्लैडर वॉल में सूजन आ जाती है। यूरिन इन्फेक्शन पुरुषों से ज्यादा स्त्रियों में ज्यादा होता है।

सिस्टाइटिस (Cystitis) के लक्षण

* पेशाब में तेज जलन व दर्द की शिकायत।

* यूरिन के साथ खून का निकलना।

* बदबूदार व गहरे रंग का मूत्र आना।

* पेट, पेड़ू या कमर के निचले हिस्से में दर्द की समस्या।

* जल्दी-जल्दी पेशाब जाना या पेशाब महसूस होना।

* उम्रदराज लोगों में थकान व बुखार भी हो सकते हैं लक्षण।

* बार-बार तेज पेशाब लगना मगर पेशाब की मात्रा बहुत कम होना।

* बच्चों में सिस्टाइटिस होने पर उल्टी की भी समस्या हो सकती है।

सिस्टाइटिस से बचाव

सिस्टाइटिस कोई गंभीर रोग नहीं है अगर केयर की जाए तो 3-4 दिन में ये रोग अपने आप अच्छा हो जाता है। ये रोग 4 दिन में अच्छा न हो, तो आपको चिकित्सक से जरूर संपर्क करना चाहिए क्योंकि ये सिस्टाइटिस के अतिरिक्त किसी व गंभीर बीमारी के भी इशारा हो सकते हैं।