तीस वर्षों बाद कजाकिस्तान में हुआ राष्ट्रपति चुनाव, कसीम जोमार्ट-टोकेयेव ने संभाली सत्ता

तीस वर्षों बाद कजाकिस्तान में हुआ राष्ट्रपति चुनाव, कसीम जोमार्ट-टोकेयेव ने संभाली सत्ता

कजाकिस्तान में सत्ताधारी राष्ट्रपति कसीम जोमार्ट-टोकेयेव ने एक बार फिर सत्ता पर अतिक्रमण जमा लिया है. देश के चुनाव आयोग की ओर से जारी किए गए 2019 चुनाव परिणामों के मुताबिक राष्ट्रपति कसीम को 70.76 फीसदी वोट मिले है. बता दें कि इस चुनाव में कुल सात उम्मीदवार मैदान में थे, जिनमें से टोकेयेव को स्पष्ट बहुमत मिला है.

12 घंटों तक की गई वोटों की गिनती

बता दें कि एक दिन पहले जारी किए एग्जिट पोल में भी टोकेयेव को ही बहुमत मिलते हुए दिखाया गया था. इसमें उन्हें 70.13 फीसदी वोट मिलने की आसार जताई गई थी. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि कजाकिस्तान में रविवार को चुनाव कराए गए थे. चुनाव में करीब 77.40 फीसदी वोटिंग पंजीकृत हुई थी. इनमें करीब डेढ़ लाख मतदाताओं ने पहली बार वोट (First Time Voters) डाला था. बता दें कि वोटिंग की प्रक्रिया पूरी होने के बाद करीब 12 घंटों तक काउंटिंग की गई थी.

तीस वर्षों बाद कजाकिस्तान में राष्ट्रपति चुनाव

बताया जा रहा है कि चुनाव परिणामों (Election Results) की औपचारिक घोषणा आने वाले हफ्ते में की जा सकती है. कजाकिस्तान के 2019 राष्ट्रपति चुनाव बहुत ज्यादा अहम है.बताते चलें कि इस बार तीस वर्षों में कोई नया चेहरा चुनाव जीतकर सत्ता में आएगा. दरअसल, मार्च में 78 वर्षीय नूरसुल्तान नजरबायेव के पद छोड़ने के बाद टोकेयेव उनके उत्तराधिकारी बने थे. इसके बाद ही देश में 30 वर्षों में पहली बार चुनाव का ऐलान किया गया था.