कंपनी के पास इन मरे हुए सुअरों को रखने के लिए 50 टन की क्षमता वाला रेफ्रीजरेटर, लेकिन जब सुविधा खत्म हो गयी तो उसने किया ....

कंपनी के पास इन मरे हुए सुअरों को रखने के लिए  50 टन की क्षमता वाला रेफ्रीजरेटर, लेकिन जब सुविधा खत्म हो गयी तो उसने किया ....

चीन के झेंजियांग प्रांत में बीमारी से मरे 300 टन सुअरों को डंप करने के आरोप में 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इन लोगों ने वर्ष 2013 से 2014 के दौरान 300 टन बीमारी से मरे सुअरों को झेंजियांग के पहाड़ी इलाकों में फेंका था. सिटी सरकार ने बोला था कि, हुझौ इंडस्ट्रियल एंड मेडिकल वेस्ट ट्रीटमेंट कंपनी को इन मरे हुए सुअरों को जलाने का सर्कुलर जारी किया गया था.

Image result for मरे सुअर

सरकारी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक,पुलिस जाँच से पता चलता है कि कंपनी के पास इन मरे हुए सुअरों को रखने के लिए इनके पास एक 50 टन की क्षमता वाला रेफ्रीजरेटर है.जब कंपनी की सुविधा खत्म हो गयी तो उसने डेईन पहाड़ी की तीन साइट्स पर इन बीमारी से मरे सुअरों को फेंक दिया. पिछले हफ्ते सरकार ने 224 टन अविघटित शवों को कीचड़ से निकलवाया अब इन अविघटित शवों को जलाया जाएगा. नगर पालिका के एक सैंपल रिपोर्ट में एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट ने बताया कि इन शवों में किसी प्रकार का मानव संक्रमित रोग नहीं पाया गया.

अधिकारियों ने आदेश दिया है कि सार्वजनिक सुरक्षा ब्यूरो, कृषि व पर्यावरण विभाग व लोकल सरकार को सामूहिक रूप से यह सुनिश्चित कर दें कि इन शवों को मिट्टी में नहीं छोड़ा गया बल्कि जला दिया गया है. बाद में, लोकल पर्यावरण सेवा केन्द्र इस पर्यावरण असर आकलन को पूरा करेगा.

झेंजियांगकी प्रांतीय सरकार ने इस प्रक्रिया की देखरेख के लिए निरिक्षकों की टीम भेजी है. पूर्वी चाइना के प्रांतों को सुअर प्रजनन के लिए ही जाना जाता है व यहां पर इन शवों को जलाने की व्यवस्था भी होती है. हालांकि, कभी – कभी लोकल डीलर पैसे बचाने के लिए गैरकानूनी डंपिंग भी करते है.