शुगर क्रेविंग की समस्या को नियंत्रित करने के लिये अपनाए यह 3 प्रमुख टिप्स

शुगर क्रेविंग की समस्या को नियंत्रित करने के लिये अपनाए यह 3 प्रमुख टिप्स

कई लोगों की आदत होती है कि वे खाना खाने के बाद कुछ न कुछ मीठा जरूर खाते हैं.कई लोग ऐसे होते हैं जिन्हें जब भी मौका मिलता है, मीठा खाने से खुद को नहीं रोक पाते हैं.

इसे 'शुगर क्रेविंग'बोलाजाता है यानी बार-बार मीठा खाने की तलब होना.यह अपने आप में कोई बीमारी नहीं हैवअगर एक सीमा तक रहे, तो कोई खास नुकसान भी नहीं करती.लेकिन अगर यह बढ़ जाए तोफैट की चर्बीसमेत कई तरह की समस्याओं की बड़ी वजह बन सकती है.इसलिए इसको नियंत्रित करनामहत्वपूर्णहै.डाइट एंड वेलनेस एक्सपर्टडाक्टरशिखा शर्मा बता रहींहैं शुगर क्रेविंग को नियंत्रित करने की 3 प्रमुख टिप्स

  1. हालांकि शुगर क्रेविंग का संबंध सीधे-सीधे भूख से नहीं है.फिर भी कई स्टडीज में साबित हो चुका है कि अगर आपको शुगर क्रेविंग हो रही है, यानी कुछ मीठा खाने की तलब हो रही है तो मीठा खाने के बजाय तुरंत कुछ पौष्टिकवस्तुखा लीजिए, खासकर ऐसी चीजें जो प्रोटीन से युक्त हों.जैसे आप अंडा खा सकते हैं या कोई भी प्रोटीन युक्त स्नैक.बेहतर होगा किकार्यालयया टूरिंग के दौरान भी आप भूने हुए चने, मूंगफली के दाने जैसी चीजें हमेशा अपने साथ रखें.पिज्जा, बर्गर या सैंडविच जैसा कुछ भी जंक खाने से बचना चाहिए.
  2. अगर मीठा खाने कीख़्वाहिशहो रही है तो मीठे के बेहतर विकल्पों पर जाएं.मसलन सेब, केला, नाशपाती, आलू बुखारा, आम या अमरूद या कोई भी सीजनल फल खाया जा सकता है.यहां बता दें कि शुगर क्रेविंग का संबंध मस्तिष्क से ज्यादा होता है.शुगर क्रेविंग मस्तिष्क को शांत करने की कवायद भी होती है.तो जब फल के रूप में मीठा खाएंगे तो मस्तिष्क शांत हो जाएगावइस तरह आप एडेड शुगर खाने से बच जाएंगे.अपने फ्रिजवकिचन से शक्करयुक्त चीजें जैसे मिठाई, आइसक्रीम, फलों के जूस, कैंडीज को हटाकर उनकेजगहपर तरह-तरह के फल रखेंगे तो बेहतर रहेगा.