10 दिन में रिहा होने वाला था बेटा कैदियों के गुट ने बना दिया कुछ ऐसा हाल ...

10 दिन में रिहा होने वाला था बेटा कैदियों के गुट ने बना दिया कुछ ऐसा हाल ...

झारखंड से भीड़ हिंसा (मॉब लिंचिंग) की घटना हुई है. इस बार कारागार के अंदर एक सजायाफ्ता कैदी की पीट-पीट कर मर्डर कर दी गई. घटना घाघीडीह केंद्रीय जेल के अंदर मंगलवार को हुई. कैदियों के एक गुट ने दहेज उत्पीड़न मुद्दे में 10 वर्ष की सजा काट रहे मनोज सिंह की पीट-पीट कर मार डाला. मनोज के पिता के अनुसार वह 10 दिन में रिहा होने वाला था.

Image result for क्राइम

पूर्वी सिंहभूम जिले के सीनियर एसपी अनूप बिरथेरे ने बताया कि मनोज सिंह को पंकज दुबे रैकेट के कुछ कैदियों ने पीटा. घटना तब हुई जब मनोज सिंह ने रैकेट से जुड़े कुछ कैदियों की पिटाई की, जिसके जवाब में रैकेट के सदस्यों ने सिंह को मार डाला.

एसएसपी ने बताया कि एक कैदी सुमित सिंह भी झड़प में गंभीर रूप से घायल हो गया व उसे यहां महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया है. छह से ज्यादा अन्य घायल कैदियों का कारागार के अस्पताल में उपचार चल रहा है.