"अभिव्यक्ति की आज़ादी के प्रखर समर्थक थे गिरीश कर्नाड" : अशोक गहलोत

"अभिव्यक्ति की आज़ादी के प्रखर समर्थक थे गिरीश कर्नाड" : अशोक गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, डिप्टी मुख्यमंत्री सचिन पायलट व पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्रसिद्ध कन्नड़ लेखक, एक्टर गिरीश कर्नाड के निधन पर शोक जाहीर किया है. गहलोत ने अपने शोक संदेश में बोला है कि ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित गिरीश कर्नाड अद्वितीय प्रतिभा के अमीर होने के साथ ही अभिव्यक्ति की आज़ादी के प्रखर समर्थक थे.

अशोक गहलोत ने आगे लिखा कि उन्होंने अपनी लेखनी तथा एक्टिंग के माध्यम से आमजन की समस्याओं को उठाया. वहीं डिप्टी मुख्यमंत्री पायलट ने अपने शोक संदेश में ट्विटर पर लिखा है कि, 'रंगमंच के महान कलाकार व पद्म भूषण से सम्मानित गिरीश कर्नाड के निधन पर शोक जाहिर करता हूं'. पायलट के मुताबिक साहित्य, रंगमंच व सिनेमा में अहम् सहयोग के लिए गिरीश कर्नाड सदैव याद किए जाएंगे.

पूर्व मुख्यमंत्री व बीजेपी नेता वसुंधरा राजे ने कर्नाड के निधन पर शोक जताते हुए बोला है कि उनका जाना भारतीय सिनेमा व साहित्य जगत के लिए अपूर्णीय क्षति है. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि नाटककार, अभिनेता, निर्देशक व ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किए गए गिरीश कर्नाड का सोमवार को बेंगलुरू में उनके घर पर निधन हो गया.वे 81 साल के थे. उन्होंने फिल्मों के साथ ही कई नाटक भी लिखे हैं, जिनमे हयवदन प्रमुख है.