हांगकांग में  प्रदर्शनकारियों ने किया ये काम, बढ़ा तनाव

हांगकांग में  प्रदर्शनकारियों ने किया ये काम, बढ़ा तनाव

हांगकांग की एक बहुमंजिला कार पार्किंग में गिरकर एक विद्यार्थी की मृत्यु हो गई. पिछले सप्ताह प्रदर्शनकारियों व हांगकांग पुलिस के बीच हिंसक झगड़े के दौरान यह विद्यार्थी बहूमंजिला इमारत से गिर गया था.

घायल अवस्‍था में उसे अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था. उपचार के दौरान शुक्रवार को अस्‍पताल वालो ने उसे मृतक घोषित कर दिया. पुलिस ने इस विद्यार्थी की पहचान कर लि है | पुलिस ने उसका नाम एलेक्स चाउ बताया है, चाउ कंप्यूटर विज्ञान व प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से पढ़ाई कर रहा था |

उधर, मृत्यु की समाचार सुनते ही प्रदर्शनकारियों एवं पुलिस के बीच तनाव बढ़ गया है. पुलिस व प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प तब प्रारम्भ हुई थी, जब देर रात प्रदर्शनकारियों ने बहुमंजिला पार्किंग से पुलिस पर वस्‍तुओं को फेकने की आरंभ करी थी. पुलिस ने भीड़ पर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले और बल का इस्‍तेमाल किया. देर रात हुई झड़प के बाद चाउ पार्किंग में खुन से लथपत अचेत अवस्‍था में देखा गया. लोगों ने उसे अचेत अवस्‍था में क्वीन एलिजाबेथ अस्पताल में भर्ती कराया, उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई.

हालांकि सितंबर में हांगकांग में चाइना की प्रतिनिधि कैरी लैम ने विवादित प्रत्यर्पण विधेयक वापस लेने का औपचारिक एलान कर दिया था. यही वह विधेयक है जिसके विरोध में पांच महीने से हांगकांग में आंदोलन चल रहा है. बाद में यह प्रदर्शन लोकतंत्र की मांग में बदल गया. दरअसल, इस विधेयक में प्रावधान था कि हांगकांग में दर्ज मुकदमे के लिए आरोपित को चाइना ले जाकर वहां की न्यायालय में सुनवाई की जा सकती थी.

हांगकांग के बड़े वर्ग ने माना कि यह उनकी लोकतांत्रिक मांगों को दबाने के चाइना के परपंच का भाग है. पूर्व में प्रत्यर्पण विधेयक को चाइना समर्थित सरकार ने स्थगित करने की घोषणा की थी, लेकिन आंदोलन थमता न देख ताजा घोषणा की गई थी. इस आंदोलन में 70 लाख आबादी वाले हांगकांग को अस्त व्यस्त सा कर रखा है. आंदोलन में शामिल एक हजार से ज्यादा लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है.