ऐक्सस बैंक में अलग—अलग पोस्ट की भर्ती के लिए रोबोट ले रहे कैंडिडेट्स का इंटरव्यू

ऐक्सस बैंक में अलग—अलग पोस्ट की भर्ती के लिए रोबोट ले रहे कैंडिडेट्स का इंटरव्यू

आजकल कंम्पनीयां इंटरव्यू के लिए रोबोट इस्तेमाल कर रहीं हैं। अब से पहले आप ने किसी कंम्पनी में नौकरी पाने के लिए किसी इंसान को इंटरव्यू दिया होगा। लेकिन अब ये काम रोबोट्स कर रहें हैं। हाल ही में ऐक्सस बैंक में अलग—अलग पोस्ट के लिए भर्ती की गई जहां कैंडिडेट्स का इंटरव्यू रोबोट द्वारा करवाया गया ।


बताया जा रहा है कि यह रोबोट एक एल्गोरिदम की मदद से कैंडिडेट्स के चेहरे के हाव—भाव को पढ़ता है और उसकी आवाज की टोन को भी पढ़ता है इससे पता लगाता है कि कैंडिडेट्स में कितना आत्मविशवास है और इसी आधर पर वह कैंडिडेट्स के लिए मार्क्स देता हैं। एक्सपर्सट् ने बताया है कि इस प्रोसेस से कैडिडेट्स के साथ भेदभाव खत्म होगा। और नौकरी प्रकिया फेयर होगी।

इंश्योरेंस कंपनी बजाज आलियांज के चीफ एचआर ऑफिसर विक्रमजीत सिंह ने कहा कि कंम्पनी ने रोबॉटिक इंटरव्यू से 1,600 से अधिक भर्तियां की हैं। इनमें अंडरराइटर से लेकर असिस्टेंट वाइस प्रेजिडेंट तक की पोस्ट के लोग शामिल हैं। और सा​थ ही कहा की इससे हायरिंग प्रोसेस में पक्षपात को कम करने में मदद मिलती है। बेंगलुरु की टैलव्यू इस सॉफ्टवेयर का असेसमेंट करती है। सिंगापुर और अमेरिका में ऑपरेट करने वाली इस कंपनी के चीफ प्रॉडक्ट ऑफिसर राजीव मेनन ने बताया कि माइक्रोसॉफ्ट और आईबीएम से सोर्स किया गया यह सॉफ्टवेयर हाव-भाव से गुस्सा और खुशी जैसे भाव, आवाज से कॉन्फिडेंस और टेक्स्ट से टीम के साथ काम करने और निर्णय लेने की क्षमता का आकलन कर सकता है।

इसके अलावा एक्सिस बैंक के एचआर हेड राजकमल वेंपति ने बताया कि बैंक ने इस साल 40 हजार से ज्यादा कैंडिडेट्स में से दो हजार कस्टमर सर्विस ऑफिसर्स की भर्ती के लिए एप्टिट्यूड टेस्ट के साथ एल्गोरिदम वाले विडियो इंटरव्यू की मदद ली थी।