भारत ने दिया माकूल जवाब

भारत ने दिया माकूल जवाब

पाकिस्तान सीमापार से लगातार गोलीबारी कर सीजफायर की घटनाओं को अंजाम दे रहा है. वहीं पाकिस्तान ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया है. पाकिस्तान ने इस बार कठुआ जिले के हीरानगर सेक्टर में सीजफायर तोड़ा है. पाकिस्तानी सेना ने बिना उकसावे के फायरिंग और गोलाबारी की. वहीं पाकिस्तान ने फायरिंग में नागरिक क्षेत्रों को भी निशाना बनाया.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक हीरानागर सेक्टर में पाकिस्तानी रेंजरों ने फायरिंग शुरू कर दी. जबकि भारत की ओर से किसी तरह की भी उकसावे वाली कार्रवाई नहीं की गई थी. पाकिस्तान की ओर से फायरिंग आज सुबह 5.30 तक जारी रही. बीएसएफ ने पाकिस्तानी रेंजरों की कार्रवाई की कार्रवाई का मुहंतोड़ जवाब दिया.

बालाकोट के बाद बढ़ा संघर्षविराम उल्लंघन

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघन इस साल के प्रथम नौ महीनों के दौरान पांच सालों में सबसे ज्यादा रहा है. भारतीय सेना के आंकड़ों के अनुसार, पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में दो अक्टूबर तक 2,225 बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया, जिसका मतलब है कि इस अवधि के दौरान उसने एक दिन में औसतन आठ बार संघर्षविराम उल्लंघन किया. इसकी तुलना में, 2018 में पूरे वर्ष के दौरान पाकिस्तान द्वारा संघर्षविराम उल्लंघन की कुल संख्या 1,629 थी. दरअसल बालाकोट एयरस्ट्राइक और जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किये जाने के बाद पाकिस्तान ने संघर्षविराम उल्लंघन तेज कर दिया है.

रिपोर्ट के मुताबिक संघर्षविराम उल्लंघन के ज्यादातर मामले पाकिस्तान द्वारा जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने की कोशिशों से जुड़ी है. खुफिया रिपोर्ट से पता चला है कि पाकिस्तान के जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों को नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ के लिए माकूल मौका मिलने पर भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ कराने की कोशिश की जाती है.