ईडी ने इस मामले की जांच के सिलसिले में राज ठाकरे को समन जारी करते हुए दिया यह आदेश

ईडी ने इस मामले की जांच के सिलसिले में राज ठाकरे को समन जारी करते हुए दिया यह आदेश

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा भेजे गए नोटिस के बाद उनके चचेरे भाई और सत्तारूढ़ सहयोगी शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे उनके समर्थन में उतर आए हैं. ईडी ने एक मामले की जांच के सिलसिले में राज ठाकरे को समन जारी करते हुए गुरुवार को पेश होने को कहा है.

Related image

उद्धव ठाकरे ने अपने आवास पर मीडियाकर्मियों से यह कहते हुए अपना परोक्ष समर्थन जाहिर किया कि ईडी द्वारा उनसे (राज ठाकरे से) पूछताछ में कुछ भी नहीं निकलेगा.

उद्धव ने कहा, "मुझे नहीं लगता कि ईडी द्वारा उनसे (राज ठाकरे) कल की जाने वाली पूछताछ से कोई नतीजा निकलेगा."

ईडी के कदम को पहले प्रतिशोध का कारण बताने वाले मनसे के प्रवक्ता संदीप देशपांडे ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य के सभी लोग इस बात को जानते हैं कि इस मामले में कुछ भी नहीं है और राज ठाकरे इससे अछूते रहेंगे.

उद्धव ने यह टिप्पणी इगतपुरी से कांग्रेस विधायक निर्मला गावित के शिवसेना में शामिल होने के मौके पर की. ईडी ने रविवार को ठाकरे व उनके पूर्व कारोबारी सहयोगी रहे पूर्व लोकसभा अध्यक्ष और सत्तारूढ़ सहयोगी शिवसेना नेता मनोहर जोशी के बेटे अनमेश जोशी के साथ ही एक अन्य कारोबारी सहयोगी को नोटिस जारी किया था. इसके बाद राजनीतिक हलकों में खलबली मच गई थी. गौरतलब है कि ईडी ने ठाकरे को आईएलएंडएफएस से संबंधित एक धनशोधन मामले में गुरुवार को अपने कार्यालय में पेश होने को कहा है.