दशहरी के शौकीनों का इंतजार हुआ समाप्त, दो क्विंटल की पहली खेप अमेरिका के लिये हुई रवाना

दशहरी के शौकीनों का इंतजार हुआ समाप्त, दो क्विंटल की पहली खेप अमेरिका के लिये हुई रवाना

परदेसियों को लुभाने के लिए दशहरी अमेरिका के सफर पर है. इसके साथ ही दशहरी की खेप आसपास के राज्यों के लिए रवाना हो गई हैइसके साथ ही दशहरी के शौकीनों का इंतजार अब समाप्त होने वाला है. मंडी से मिली जानकारी के मुताबिक मात्र दो दिन के भीतर दशहरी देश के विभिन्न शहरों में अपनी आमदपंजीकृत करा देगा. मंडी में आम की आवक तेज हो गई है. दिन-रात लोडिंग का कार्य चल रहा है. मलिहाबाद, सीतापुर रोड, दुबग्गा से ट्रकों का निकलना प्रारम्भ हो गया है. रेडिएशन ट्रीटमेंट के बाद अमेरिका के लिए दो क्विंटल दशहरी की पहली खेप भी भेज दी गई है.

शहर की तीनों मंडियों में आम की लोडिंग जोरों पर है. मलिहाबाद मंडी से महाराष्ट्र की अमरावती, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान व उत्तराखंड देहरादून के लिए ट्रकों से आम की खेप भेजी जा चुकी है. वहीं, दुबग्गा से प्रदेश की विभिन्न जिलों के लिए आम भरे ट्रक रवाना हुए है. मंडी सचिव देवेंद्र वर्मा की माने तो मात्र 20 से 25 फीसद आम ही बागों में है. आम उत्पादक कहते हैं पिछले कई सालों में इस तरह का नुकसान देखने को नहीं मिला है. फसल बहुत ज्यादा कम है.

अमेरिका के लिए दो क्विंटल की पहली खेप रवाना

मंडी सचिव देवेंद्र वर्मा के मुताबिक दो क्विंटल दशहरी की खेप अमेरिका भेजी गई है. महाराष्ट्र में रेडिएशन ट्रीटमेंट के बाद इसे रवाना किया गया है. जल्द ही खाड़ी राष्ट्रों दुबई, सऊदी अरब के दोहा, कतर, जेद्दा आदि के लिए रवाना किया जाएगा. अभी आरंभ है. लिहाजा निर्यात में तेजी नहीं आई है. जल्द ही एक्सपोर्ट का कार्य तेज होने के संभावना हैं. मैंगों पैक हाउस तैयार हैं. सात समंदर पार के लिए विशेष ढंग से पैकिंग का कार्य चल रहा है. इनमें 'फलों के राजा' की चमक के साथ उसके वजन पर खासा ध्यान दिया जाता है. पैकिंग में 'टेंभुआ युक्त' आम का भी ध्यान रखा जाता है.