प्रदर्शनकारियों की मांग उनका पैसा वापस लौटाया जाए घोटाले में अरैस्ट राकेश वाधवान न्यायालय में हुई पेशी

 प्रदर्शनकारियों की मांग उनका पैसा वापस लौटाया जाए घोटाले में अरैस्ट राकेश वाधवान न्यायालय में हुई पेशी

मुंबई के घोटाले में अरैस्ट आरोपी एचडीआईएल (HDIL) के राकेश वाधवान व सारंग वाधवान की बुधवार को न्यायालय में पेशी हुई। इस दौरान पीएमसी बैंक के खाताधारकों ने मुंबई की किला न्यायालय के बाहर नारेबाजी की। प्रदर्शनकारी आरोपी राकेश वाधवान के एडवोकेट अमित देसाई की गाड़ी के आगे नारेबाजी करने लगे। प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि उन्हें उनका पैसा वापस लौटाया जाए।

14 अक्टूबर तक पुलिस रिमांड में भेजा
दूसरी तरफ न्यायालय ने पेशी पर पहुंचे एचडीआईएल के डायरेक्टर्स सारंग वाधवान व राकेश वाधवान को 14 अक्टूबर तक की पुलिस रिमांड में भेज दिया है। अरैस्ट किए गए दोनों बाप-बेटों की रिमांड बुधवार को समाप्त हो रही थी। वहीं पीएमसी बैंक के पूर्व चेयरमैन वरयाम सिंह को भी 14 अक्टूबर तक के लिए रिमांड में भेज दिया गया है।

शांति पूर्ण तरीका से प्रदर्शन किया
इससे पहले पीएमसी बैंक के खाताधारकों ने किला न्यायालय के पास इकठ्ठा होकर शांति पूर्ण तरीका से प्रदर्शन किया। उनका बोलना था कि आरोपियों को जमानत नहीं मिलनी चाहिए। साथ ही उन्होंने पीएमसी बैंक को इस स्थिति से उबारने की सरकार से मांग की। इससे पहले मुंबई की एक न्यायालय ने रविवार को संकटग्रस्त पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड (PMC) के पूर्व चेयरमैन एस। वरयाम सिंह को 9 अक्टूबर तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया था।

21,049 डमी खातों का सच
- बरसों से बंद खातों का प्रयोग हुआ
- बैंक खातों की कोई KYC भी नहीं हुई
- एक्सेल शीट में रखा जाता था ब्यौरा
- 2017 से डमी खाते बनाने का सिलसिला
- बैंक में कुल 6 ही लोगों को थी जानकारी
- ऑडिटर, बोर्ड, ऑडिट कमेटी से छुपाया

कैसे छुपाया
- 44 खातों की बड़ी रकम को टुकड़ों में बांटा
- 44 खातों के बदले 21049 खाते में दिखाए
- छुपाने के लिए जमा के बदले कर्ज़ दिखाया
- छोटे छोटे बकाये दिखाने से पकड़ से बाहर