भोजन को स्वाद देने के साथ हमारे स्वास्थ्य को संवारता है जीरा, जानिये इसके फायदे

भोजन को स्वाद देने के साथ हमारे स्वास्थ्य को संवारता है जीरा, जानिये इसके फायदे

भोजन को खुशबू और स्वाद देने के साथ जीरा स्वास्थ्य को भी संवारता है. कई शोध के अनुसार पिसा जीरा लेने से शरीर में वसा का अवशोषण कम होता है जिससे वजन कम होने में मदद मिलती है. जानते हैं इसके अन्य फायदे

दुरुस्त हृदय
हृदय की धडक़नें सामान्य रखने और हार्ट अटैक से बचाव करने के अतिरिक्त स्मरण शक्ति बढ़ाने, खून की कमी दूर करने, पाचनतंत्र अच्छा कर गैस और ऐंठन से निजात दिलाता है.

चर्बी घटाए
दो बड़े चम्मच जीरा एक गिलास पानी में भिगोकर रातभर के लिए रख दें. प्रातः काल इसे उबाल लें व गर्मा-गर्र्म चाय की तरह पीएं. बचा हुआ जीरा चबा लें. रोज ऐसा करने से चर्बी कम होती है.

मजबूत बाल
रातभर जीरे को पानी में भिगोएं. शैंपू करने के बाद बालों को इस पानी से धोने से पोषण मिलता है.

सरसों ऑयल की मालिश से थकान दूर
सर्दियों में सरसों के ऑयल की मालिश बहुत गुणकारी होती है. इससे शरीर में रक्तसंचार बढ़ता है और थकान दूर होती है. हिंदुस्तान में हुई कई रिसर्च के अनुसार नवजात शिशु एवं प्रसूता की मालिश इसी ऑयल से करनी चाहिए. इस ऑयल को पैरों के तलवे में लगाने से थकान तुरंत मिटती है और नेत्रज्योति बढ़ती है. दाद, खाज, खुजली जैसे चर्म रोग से निजात मिलती है. ऑयल से मालिश गठिया में भी राहत देती है.

जम्हाई लेने से दिमाग रहता है कूल
न्यूस्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार जम्हाई के दौरान गहरी सांस लेने से भीतर आने वाली हवा बे्रन को कूल करती है. साथ ही जबड़ों की स्ट्रेचिंग होने से दिमाग की तरफ रक्तसंचार बढ़ता है. रात में बे्रन-बॉडी का टेम्प्रेचर दिन की तुलना में अधिक होने से ज्यादा जम्हाई आती है.

वेज सूप-सलाद से तन व मन खुश
डायटीशियन निखिल चौधरी के अनुसार डिप्रेशन से राहत में कुछ चीजें मददगार हैं. प्रीबायोटिक और फाइबर युक्त दही, कांजी के पानी और अचार से पेट को हैल्दी बैक्टीरिया मिलते हैं. अंकुरित बींस, अनाज, सूखे मेवे, कच्ची सब्जियां, सलाद, सूप, फल आदि भी तन-मन को सुकून देते हैं.