ब्रिटिश ऑयल टैंकर में बंधक बने 18 भारतियों की रिहाई को लेकर हिंदुस्तान हुआ चिंतित

ब्रिटिश ऑयल टैंकर में बंधक बने 18 भारतियों की रिहाई को लेकर हिंदुस्तान हुआ चिंतित

ईरान व ब्रिटेन के बीच ऑयल टैंकर को जब्त करने को लेकर बढ़े तनाव के साथ अब हिंदुस्तान में भी माहौल गरमाता जा रहा है. दरअसल, ईरान की ओर से जब्त किए गए ब्रिटिश ऑयल टैंकर में कार्यरत 18 हिंदुस्तानियों की रिहाई को लेकर हिंदुस्तान चिंतित है.

Image result for ब्रिटिश ऑयल टैंकर

इस विषय में विदेश मंत्री सुब्रमण्यम जयशंकर ( S Jaishankar ) ने रविवार को एक बयान में बोला कि सरकार ब्रिटिश टैंकर में कार्यरत 18 हिंदुस्तानियों की शीघ्र रिहाई व देश में वापस लाने को सुनिश्चित करने के लिए कार्य कर रही है, जिसे ईरान द्वारा गिरफ्तार किया गया है.

जयशंकर ने आगे बोला कि विदेश मंत्रालय पहले से ही Stena Impero के सभी 18 भारतीय चालक दल के सदस्यों की शीघ्र रिहाई व प्रत्यावर्तन पर कार्य कर रहा है. ऑफिसर तेहरान स्थित भारतीय दूतावास से लगातार सम्पर्क बनाए हुए हैं व इसके निवारण के लिए रास्ता निकाल रहे हैं.

केरल के सीएम पिनाराई विजयन ने जताई चिंता

भारतीय नागरिकों की गिरफ्तारी पर केरल के सीएम पिनाराई विजयन ( सीएम Pinarayi Vijayan ) ने भी चिंता जताई है व हिंदुस्तान सरकार से त्वरित कार्रवाई की मांग की है.उन्होंने बोला है कि यथा संभव शीघ्र हिंदुस्तानियों की रिहाई के लिए कदम उठाए जाएं.

सीएम विजयन को जवाब देते हुए विदेश मंत्री एस। जयशंकर ने बोला कि हिंदुस्तानियों की रिहाई को लेकर कार्य किया जा रहा है. जयशंकर ने बताया कि 18 हिंदुस्तानियों में चार मलयाली नागरिक भी शामिल हैं.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ईरान द्वारा जब्त किए गए ब्रिटिश टैंकर के चालक दल में 4 मलयाली शामिल हैं. इसके बाद मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने केन्द्र सरकार से सम्पर्ककिया है. उन्होंने विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर को भी एक संदेश भेजा है.

कंपनी स्टेना बल्क द्वारा जारी एक बयान में बोला गया है, ईरान ने शनिवार को एक ब्रिटिश झंडे वाले जहाज को जब्त कर लिया. जब्ती के बाद, मालवाहक पोत के मालिक ने बोलाकि 18 भारतीय नागरिकों के साथ विमान में 23 लोग सवार थे.पोत के मालिक ने यह भी बोला है कि चालक दल के सभी मेम्बर अच्छा हैं.