बिहार: चमकी बुखार से मरने वाले मासूमों पर नीतीश कुमार ने दिया आपत्तिजनक बयान, कहा

बिहार: चमकी बुखार से मरने वाले मासूमों पर नीतीश कुमार ने दिया आपत्तिजनक बयान, कहा

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में चमकी बुखार कहे जाने वाले अक्यूट इन्सेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के कारण हो रही मौतों से सारे देश में मातम है. अब तक 108 बच्चों की जान जा चुकी है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 3 हफ्ते बीत जाने के बाद मंगलवार को मुजफ्फरपुर जाने की समाचार ली तो वहां उपस्थित लोगों ने उनका जमकर विरोध किया.

वहीं दूसरी तरफ बिहार के सांसद व नीतीश कुमार के मंत्री मासूमों के मृत्यु पर आपत्तिजनक बयान दे रहे हैं. मुजफ्फरपुर जिले के सांसद अजय निषाद व जनता दल यूनाइटेड (जदयू) सांसद दिनेश चंद्र यादव ने इन्सेफलाइटिस से हो रही मौतों का कारण गर्मी बताई है, वहीं प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी ने मुख्यमंत्रीनीतीश पर हमला कहा है. इस बीच मुजफ्फरपुर के डीएम आलोक रंजन ने भी अक्यूट इन्सेफलाइटिस सिंड्रोम से 108 बच्चों की मौत हो जाने की पुष्टि की है.

उन्होंने बोला है कि मंगलवार को भी 4 मासूमों ने संसार को अलविदा कह दिया. अस्पताल में भर्ती बच्चों का इलाज किया जा रहा है. इनमें 16 बच्चों की हालत गम्भीर है. मुजफ्फरपुर में मौतों के बारे में जब यहां के सांसद अजय निषाद से पुछा गया तो उन्होंने बेहद लापरवाही से जवाब देते हुए बोला कि, 'इस बार अधिक मुद्दे आ रहे हैं, इसका कारण गर्मी भी है. गर्मी बहुत अधिक हो रही है, उसे रोकने के लिए पेड़-पौधे लगाना चाहिए. बीमारी का वास्तविक कारण 4 जी है, जी फॉर गर्मी, गांव, गरीबी व गंदगी. इससे बीमारी का संबंध है. मरीज गरीब तबके से आते हैं व उनके रहन-सहन के स्तर में गिरावट देखी गई है. उसे सुधारने की जरूरत है.'