बेटी के जन्म के बाद एक जिम्मेदार पिता बने रोहित शर्मा, इस तरह रचते है इतिहास

बेटी के जन्म के बाद एक जिम्मेदार पिता बने रोहित शर्मा, इस तरह रचते है इतिहास

रोहित शर्मा की सफलता की सबसे बड़ी कुंजी उनका शांत स्वभाव रहा है. वक्त के साथ उन्होंने अपने खेल में जो स्थिरता दिखाई है वह उन्हें यूं ही हासिल नहीं हुई. करियर के शुरुआती दिनों में रोहित के आलोचकों की कमी नहीं थी. उन्हें गैरजिम्मेदार बल्लेबाज करार दिया जाता था लेकिन समय व अनुभव के साथ रोहित ने एक बेहतरीन बल्लेबाज के रूप में खुद को विकसित किया व नतीजा सामने है. रोहित वनडे में तीन दोहरा शतक लगाने वाले संसार के इकलौते क्रिकेटर हैं. हालांकि इतनी लंबी-लंबी पारियां खेलने के बावजूद उन्हें टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा सम्मान नहीं दी जाती जबकि धैर्य से भरी उनकी शैली टेस्ट क्रिकेट को ज्यादा सूट करती है.

पिता रोहित बने जिम्मेदार

2019 दुनिया कप में अब तक दो शतक जड़ चुके रोहित पिता बनने के बाद ज्यादा जिम्मेदार बल्लेबाज बन गए हैं व बेटी के जन्म के बाद उनकी जिंदगी बदल गई है. भारतीय उप कैप्टन ने दक्षिण अफ्रीका व पाक के विरूद्ध शतक जमाए, जबकि ऑस्ट्रेलिया के विरूद्ध मैच में उन्होंने अर्धशतक लगाया था.

पाकिस्तान के विरूद्ध मैच में 113 गेंद में 140 रन बनाने वाले रोहित ने बोला कि मैं इस समय अपनी जिंदगी के अच्छे मुकाम पर हूं. जिंदगी में बेटी के आने सेयह हुआ व मैं अपने क्रिकेट का भी पूरा मजा ले रहा हूं. एक टीम के तौर पर हम ठीक दिशा में जा रहे हैं. हमारे लिए हर विभाग में अच्छा प्रदर्शन महत्वपूर्ण हैऔर हम वही कर रहे हैं. उन्होंने बोला कि पिछले दो दिन से हम यहां हैं व पिच कवर में थी. आरंभ में थोड़ी नमी थी. ऐसे दशा में नयी गेंद बहुत ज्यादा महत्वपूर्णहो जाती है व शुरुआती विकेट गंवाने से दबाव बन सकता था. मैं नहीं जानता की अपनी बल्लेबाजी से मैं संतुष्ट हूं कि नहीं. किसी एक पारी को सर्वश्रेष्ठ कहनाकठिन है क्योंकि देश के लिए खेली गई हर पारी अहम है.

पाकिस्तान के गेंदबाज हसन अली व वहाब रियाज ने रोहित शर्मा के विरूद्ध शॉर्ट पिच व बाहर जाती गेंदें डाली. इस रणनीति पर रोहित ने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि उनकी टीम बैठक में क्या हुआ. वह फुल लेंथ गेंद डालना चाहते थे या शॉर्ट पिच. पहले 10 ओवर में उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की. हमें पता है कि इंग्लैंड में एक बार दबाव में आने के बाद गेंदबाज के लिए वापसी करना कठिन है. गलती की कोई गुंजाइश नहीं होती.’ वहीं एक पाकिस्तानी पत्रकार ने पूछा कि पाक की टीम को वह क्या सलाह देंगे तो इस पर रोहित ने बोला कि जब मैं पाक टीम का कोच बनूंगा, तब इसका जवाब दूंगा.’