यहां शवों को जलाया व दफनाया नही जाता बल्कि...

यहां शवों को जलाया व दफनाया नही जाता बल्कि...

हिंदू धर्म में मृत्यु के बाद इंसान को जलाने की परंपरा है जबकि मुस्लिम धर्म में शवों को दफनाया जाता है, हालांकि क्या कभी आपने ऐसी किसी परंपरा के बारे में सुना है, जिसमें शवों को गिद्धों को खिला दिया जाता है. ये कोई कहानी नहीं है बल्कि ये एक ऐसा रिवाज है जो आज भी समाज में प्रचलन में है और इसकी खूब चर्चा भी की जाती है.

Image result for न शवों को जलाया, न दफनाया

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, चीन और फिलीपींस में कई जगहों पर इंसान की मौत के बाद उनके शवों को ताबूत में रखकर ऊंचे चट्टानों पर लटका दिया जाता है और ऐसा करने के पीछे मान्यता है कि इससे मृतक की आत्मा सीधे ही स्वर्ग में प्रवेश कर जाती है.

बताया जा रहा है कि इंडोनेशिया के बाली में मृतक को जीवित की तरह माना जाता है और साथ ही ऐसा कहा जाता है कि वह अभी सो रहा हैं. इतना ही नहीं यहां इंसान की मौत पर आंसू बहाने की भी मनाही है. दक्षिणी मैक्सिको की बात की जाए तो यहां वर्गों में मृत व्यक्ति को घर में ही दफन करने की परंपरा है और ऐसा करने के पीछे मान्यता यह भी है कि इस तरह से उनका प्रिय उनके करीब ही रहता है. लेकिन इसकी एक वजह गरीबी भी बताई जाती है.