असम राइफल में तैनात उत्तराखंड का यह जवान है इतने दिन से लापता हवलदार राजेंद्र का भी नही चल रहा पता

असम राइफल में तैनात उत्तराखंड का यह जवान है इतने दिन से लापता हवलदार राजेंद्र का भी नही चल रहा पता

उत्तराखंड के चमोली में थराली तहसील क्षेत्र के राजस्व गांव सुनाऊं निवासी असम राइफल में तैनात सैनिक अनिल पुरोहित 11 दिनों से लापता है. सैनिक के लापता होने पर उसके ससुर ने राजस्व चौकी थराली में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई. 

सेरा विजयपुर निवासी कैलाश चंद्र ने राजस्व उपनिरीक्षक चंद्र सिंह बुटोला को दी तहरीर में बोला कि उनके दामाद अनिल पुरोहित (28) पुत्र बुद्धि बल्लभ पुरोहित ने तीन जनवरी को उनकी पुत्री को फोन किया था. 

उसने बोला था कि वह आसाम के दीनापुर से निकला है व एक माह की छुट्टी आ रहा है, लेकिन वह आज तक घर नहीं पहुंचा. राजस्व पुलिस का बोलना है कि उनके पास गुमशुदगी की तहरीर आई है, लेकिन संसाधनों के अभाव में मुद्दे को रेगुलर पुलिस को हस्तांतरित करने के लिए तहसीलदार को रिपोर्ट भेजी है. लापता सिपाही 14 असम राइफल में तैनात है.

हवलदार राजेंद्र नेगी की तलाश को रक्षा मंत्री को भेजा ज्ञापन

पज्याणा गांव निवासी हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी की कुशलता के लिए क्षेत्र में लोग भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं. आठ जनवरी को भारत-पाकिस्तान सीमा पर ड्यूटी के दौरान 11वीं गढ़वाल राइफल के हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी लापता हो गए थे. 

पज्याणा मल्ला के ग्रामीणों ने उनकी खोज के लिए एसडीएम के माध्यम से रक्षा मंत्री राजनाथ को ज्ञापन भेजा. ग्रामीणों ने बोला कि सेना की ओर भी राजेंद्र नेगी के बारे में परिजनों को कोई स्पष्ट सूचना नहीं दी गई, जिस कारण परिजन परेशान हैं. ज्ञापन देने वालों में गंगा सिंह, नारायण सिंह, संतराम, गोकुल सिंह, भवान सिंह व त्रिलोक सिंह आदि उपस्थित थे.