कोरोना से जंग में शामिल डॉक्टरों की मदद को आगे आई दिल्ली सरकार, जारी किया ये ऑर्डर

कोरोना से जंग में शामिल डॉक्टरों की मदद को आगे आई दिल्ली सरकार, जारी किया ये ऑर्डर

कोरोना के विरूद्ध लड़ाई में शामिल डॉक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों के लिए राहत की समाचार है. दिल्ली सरकार ने जिला प्रशासन व पुलिस को डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ, हेल्थ केयर कर्मियों को अपने किराये के घर खाली करने के लिए विवश करने वाले मकान मालिकों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई करने का आदेश दिया है.

जानकारी के अनुसार, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की सेवा में लगे लोगों के साथ गलत व्यवहार पर नाराजगी व दुख जताया था. उन्होंने बोला कि कॉलोनियों में उन्हें घुसने से रोका जा रहा है. आपने उनके लिए ताली बजाई थी. अब उनके साथ ऐसा व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है. वह दिन-रात बगैर अपनी स्वास्थ्य की चिंता किए कोरोना से जंग लड़ रहे हैं. हमें उनका सम्मान करना चाहिए. यह लोग आपके बच्चों व परिवार के लिए अपनी जान दांव पर लगा रहे हैं. कल को आपके परिवार में किसी को करोना हो गया तो फिर आप किसके पास जाओगे. आप इन्हीं चिकित्सक व नर्स के पास तो जाओगे, जिनके साथ आज इस तरह से व्यवहार कर रहे हैं. यह व्यवहार गलत है.

एम्स के डॉक्टरों ने अमित शाह से मांगी थी मदद

गौरतलब है कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में कार्य करने वाले डॉक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों ने मंगलवार को गृहमंत्री अमित शाह को लेटर लिखकर उनसे मदद मांगी थी. एम्स की रेजिडेंट चिकित्सक एसोसिएशन के अध्यक्ष चिकित्सक आदर्श प्रताप सिंह ने बताया कि गौतम नगर में रहने वाले एम्स के एक चिकित्सक को मकान मालिक घर छोड़ने के लिए दबाव बना रहा है. देश के दूसरे हिस्सों से भी ऐसी खबरें आ रही हैं.

अमित शाह ने इसकी शिकायत मिलने पर एम्स आरडीए को सुरक्षा का भरोसा दिलाते हुए दिल्ली पुलिस कमिश्नर से बात की व बोला है कि कोई भी स्वास्थ्य कर्मचारियों को अपने घर से नहीं निकालेगा. 

वहीं, नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने एयरलाइन कर्मियों को पड़ोसियों द्वारा परेशान करने की शिकायत पर संबंधित अधिकारियों से चालक दल कर्मियों को मदद एवं सुरक्षा प्रदान करने का आग्रह किया.