17 जुलाई को संयुक्त राष्ट्र को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

17 जुलाई को संयुक्त राष्ट्र को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली: दुनियाभर के देश कोरोना वायरस (Coronavirus) के विरूद्ध जंग लड़ रहे हैं। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 17 जुलाई को संयुक्त राष्ट्र (UN) को संबोधित करेंगे। संयुक्त राष्ट्र के 75 वर्ष सारे होने पर ये प्रोग्राम हो रहा है। हिंदुस्तान की सुरक्षा परिषद में जीत के बाद संयुक्त राष्ट्र में प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी का यह पहला सम्बोधन होगा।

संयुक्त राष्ट्र में हिंदुस्तान के स्थायी प्रतिनिधि टीएम तिरुमूर्ति (TS Tirumurti) के मुताबिक, पीएम मोदी 17 जुलाई को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र ECOSOC के उच्च-स्तरीय खंड के वैलिडिक्टरी (Valedictory) में मुख्य सम्बोधन देंगे। सुरक्षा परिषद में हिंदुस्तान को दो वर्ष के लिए अस्थायी सदस्यता मिली है। सदस्यता के लिए मिले वैश्विक समुदाय द्वारा दिए गए भारी समर्थन के लिए प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने आभार जाहीर किया था। उन्होंने बोला था कि हिंदुस्तान वैश्विक शांति, सुरक्षा समेत विभिन्न मुद्दों पर मेम्बर राष्ट्रों के साथ मिलकर कार्य करेगा।

प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा को पिछले वर्ष सितंबर में संबोधित किया था। तब उन्‍होंने सारे दुनिया से आतंकवाद के विरूद्ध एकजुट होने की अपील की थी।

17 जून को हुए थे चुनाव
बता दें कि 17 जून को हिंदुस्तान निर्विरोध रूप से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) का अस्थायी मेम्बर चुना गया था। 193 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र महासभा ने अपने 75वें सत्र के लिए अध्यक्ष, सुरक्षा परिषद के अस्थाई सदस्यों व आर्थिक और सामाजिक परिषद के सदस्यों के लिए चुनाव कराया था। इसमें हिंदुस्तान को 192 में से 184 वोट हासिल हुए थे।

2021-22 तक अस्थायी मेम्बर बना रहेगा भारत
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में 5 स्थायी व 10 गैर-स्थायी मेम्बर होते हैं। स्थायी सदस्यों में चीन, फ्रांस, रूस, यूके व यूएस शामिल हैं। हर वर्ष यूएनएससी की महासभा दो वर्ष के कार्यकाल के लिए पांच गैर-स्थायी सदस्यों का चुनाव करती है। इसके तहत हिंदुस्तान 2021-22 कार्यकाल के लिए संयुक्त राष्ट्र की सर्वोच्च संस्था का अस्थायी मेम्बर बन गया है।