अंधेरे में मायानगरी: ग्रिड के फेल होने की वजह से पूरी मुंबई में तबाही

अंधेरे में मायानगरी: ग्रिड के फेल होने की वजह से पूरी मुंबई में तबाही

नई दिल्ली: मुंबई के लोगों को इस वक्त बड़ी मुसीबत का सामना करना पड़ा रहा है। दरअसल, मायानगरी में ग्रिड फेल होने की वजह से यहां के ज्यादातर इलाकों की बिजली गुल हो गई है। बिजली गुल होने की वजह से लोकल ट्रेन सेवा भी ठप हो गई है। बता दें कि पूरे मुंबई में सवा दस बजे से बिजली आपूर्ति बंद हो गई है, जिस वजह से कहीं भी बिजली नहीं आ रही है। लोगों को इसके चलते कई सारी दिक्कतों का भी सामना करना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि बिजली की बहाली में एक घंटे या उससे ज्यादा का समय लग सकता है।

ग्रिड के फेल होने की वजह से पूरी मुंबई में बिजली गुल हो चुकी है। बता दें कि पावर ग्रिड बिजली लाइनों का एक नेटवर्क होता है, जिसके जरिए बिजली की सप्लाई की जाती है। तो चलिए आपको विस्तार से बताते हैं कि क्या है पावर ग्रिड और यह कैसी फेल होती है।

क्या है पावर ग्रिड-

पावर ग्रिड बिजली लाइना का एक ऐसा नेटवर्क होता है, जिसके माध्यम से उपभोक्ताओं को बिजली की सप्लाई की जाती है। इसी नेटवर्क के माध्यम से उत्पादन से लेकर आपके घरों, दफ्तरों जैसी जगहों पर बिजली पहुंचाने का काम किया जाता है। इसके तीन स्टेज होते हैं- पहला पावर जनरेशन, दूसरा पावर ट्रांसमिशन और तीसरा पावर डिस्ट्रीब्यूशन।

पहले स्टेज पर बिजली पैदा की जाती है। बिजली निर्माण के बाद उसकी सप्लाई की जाती है। बता दें कि इसके जरिए उन्हीं राज्यों या इलाकों में बिजली स्पलाई की जाती है, जिनसे इसके लिए करार होता है। बिजली सप्लाई को ही पावर ट्रांसमिशन कहा जाता है। फिर इसके बाद आता है तीसरा स्टेज पावर डिस्ट्रीब्यूशन, इसमें ग्राहकों तक संबंधित पावर स्टेशनों से बिजली सप्लाई की जाती है। इन तीन चरणों में बिजली सप्लाई करने के लिए जिस नेटवर्क का यूज होता है, उसे पावर ग्रिड (Power Grid) कहते हैं।

कैसे होती है फेल?

इंडिया में 49-50 हर्ट्ज की फ्रीक्वेंसी पर ही बिजली का ट्रांसमिशन (Power Transmission) होता है। लेकिन जब ये Frequency उच्चतम या न्यूनतम स्तर तक पहुंच जाती है तो इस स्थिति में पावर ग्रिड फेल होने का संकट पैदा हो जाता है। पावर ग्रिड के फेल होने की वजह से बिजली की सप्लाई ठप हो जाती है।