मंदिर में 73 वर्ष के भिखारी ने किए 8 लाख रुपये दान

मंदिर में 73 वर्ष के भिखारी ने किए 8 लाख रुपये दान

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में मंदिरों के प्रवेश द्वार पर भिक्षा मांगने वाले 73 वर्षीय भिखारी यादि रेड्डी ने साईंबाबा मंदिर को 8 लाख रुपये दान किए हैं. यह रुपये उन्होंने सात साल में बटोरे हैं.

उन्होंने लगभग चार दशकों तक रिक्शा चलाया. इसके बाद जब उनके घुटनों ने रिक्शा चलाने से जवाब दे दिया तो भीख मांगने के लिए विवश होना पड़ा. यादि रेड्डी ने बताया कि मैंने 40 वर्ष तक रिक्शा चलाया. सबसे पहले मैंने साईंबाबा मंदिर के अधिकारियों को 1 लाख रुपये दिए. जब मेरी तबियत बिगड़ने लगी, तो मुझे रुपये की आवश्यकता महसूस नहीं हुई. इसलिए, मैंने मंदिर में व सहयोग देने का निर्णय किया.

रेड्डी ने बोला कि जब उन्होंने मंदिर में दान देना प्रारम्भ किया, तो उनकी आमदनी में इजाफा हुआ. मंदिर में रुपये दान करने के बाद लोगों ने मुझे पहचानना प्रारम्भ कर दिया. बोला कि मेरी आय भी धीरे-धीरे बढ़ गई. आज तक मैंने 8 लाख रुपये दिए हैं. मैंने भगवान को शपथ दी कि मैं अपनी सारी कमाई सर्वशक्तिमान को दूंगा.

रेड्डी के इस दान की सराहना करते हुए, मंदिर अधिकारियों ने बोला कि इससे मंदिर के विकास में वास्तव में मदद मिली है. हम यादि रेड्डी की मदद से एक गोशाला बनाने में पास रहे हैं. उन्होंने मंदिर को 8 लाख रुपये का दान दिया है. हम कभी भी किसी तरह का दान नहीं मांगते हैं लेकिन शहर के आसपास के लोग खुद दान करते हैं.