कोरोना की तीसरी लहर को लेकर विशेषज्ञों ने किया सचेत

कोरोना की तीसरी लहर को लेकर विशेषज्ञों ने किया सचेत

भले ही देश में कोरोना के मामलों में कमी आई हो फि‍र भी तीसरी लहर को लेकर विशेषज्ञों ने आगाह किया है। विशेषज्ञों का कहना है कि त्योहारों का मौसम और इस दौरान लोगों की ओर से कोविड प्रोटोकाल का पालन महत्वपूर्ण कारक साबित होंगे। विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि तीसरी लहर के संबंध में कोरोना वायरस का एक नया वैरिएंट घातक साबित हो सकता है क्योंकि त्योहारों के सीजन में लोगों की भीड़ में इसके तेजी से फैलने की आशंका होगी। 

त्‍यौहारों के सीजन में सतर्कता की दरकार 

टीकाकरण पर राष्ट्रीय तनकीकी सलाहकार समूह के कोविड-19 कार्यसमूह के अध्यक्ष डा. एन के अरोड़ा ने कहा कि पिछले कुछ महीनों से तेजी से हो रहे टीकाकरण और कोरोना के किसी नए वैरिएंट के सामने नहीं आने के बाद तीसरी लहर को लेकर सबसे बड़ा खतरा त्‍यौहारों के सीजन में होगा जब लोग कोविड प्रोटोकाल का पालन करना भूल जाएंगे। इस सीजन में आयोजनों से लोगों के बीच डेल्टा वैरिएंट तेजी से फैल सकता है।

उठाए जानें चाहिए कड़े कदम

डा. एन के अरोड़ा ने कहा कि खासकर उन लोगों में डेल्टा वैरिएंट के फैलने का जोखिम ज्‍यादा है जिन्‍होंने संक्रमण के प्रति खुद को सुरक्षित नहीं किया है। ऐसे में त्‍यौहारी सीजन में लोग को चाहिए कि वे पूरी ईमानदारी से कोविड प्रोटोकाल का पालन करें। यही नहीं सामाजिक जमावड़े को हतोत्साहित करने के लिए भी कड़े कदम उठाए जाने चाहिए।

लोगों का जमावड़ा हो सकता है वजह 


दिल्‍ली स्थित एम्स के निदेशक डा. रणदीप गुलेरिया का कहना है कि मौजूदा वक्‍त में कोरोना के मामलों में तेजी से गिरावट देखी जा रही है। यह बेहतर स्थिति है लेकिन त्योहारों के मौसम में कोविड प्रोटोकाल यानी कोरोना से बचाव के उपायों के पालन में आने वाली कमी और लोगों का भारी जमावड़ा तीसरी लहर की वजह बन सकते हैं। डा. गुलेरिया ने कहा कि अगले दो से तीन महीने कोरोना की रोकथाम के लिए बेहद महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं।


नए टीकों के निर्माण पर जोर 

शीर्ष टीकाकरण विशेषज्ञ गगनदीप कांग का कहना है कि यदि कोरोना का कोई नया वैरिएंट सामने नहीं आता है तो महामारी की तीसरी लहर दूसरी लहर की तरह भयानक नहीं होगी। उन्‍होंने कहा कि बेहतर टीके विकसित करके नए वैरिएंट्स से निपटा जा सकता है।

अगले तीन महीने बेहद अहम 

वहीं चिकित्सा विशेषज्ञ चंद्रकांत लहरिया ने कहा कि दुनिया भर में भीड़ जुटने से कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी देखी गई है। इसलिए अगले तीन महीने बेहद महत्वपूर्ण हैं क्‍योंकि इस दौरान कई त्‍यौहार पड़ने वाले हैं। वे लोग जिन्होंने कोविड रोधी वैक्‍सीन की दोनों खुराकें नहीं ली हैं किसी जमावड़े में जाने से बचते हैं तो तीसरी लहर को टालने में सहूलियत होगी। नीति आयोग के सदस्य और टीकाकरण पर गठित टास्क फोर्स के प्रमुख डाक्टर वीके पाल भी आगाह कर चुके हैं कि कोरोना की तीसरी लहर को लेकर अगल तीन महीने अहम साबित हो सकते हैं।


कोरोना से एक दिन में 666 की मौत, जानिए अचानक क्यों बढ़ा मरने वालों का ये आंकड़ा

कोरोना से एक दिन में 666 की मौत, जानिए अचानक क्यों बढ़ा मरने वालों का ये आंकड़ा

देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार दूसरे दिन वृद्धि दर्ज की गई। हालांकि, सक्रिय मामलों में गिरावट का दौर जारी है और एक्टिव केस 233 दिन के निचले स्तर पर पहुंच गए हैं। केरल ने पिछले दिनों हुईं 292 मौतों को शनिवार के आंकड़ों से मिलान किया, इसके चलते मरने वालों का दैनिक आंकड़ा बढ़ गया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से शनिवार सुबह अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे के दौरान 16,326 नए मामले मिले हैं, 666 मौतें हुई हैं। इसमें केरल में पिछले एक दिन में हुईं 99 मौतें और पिछले कुछ दिनों के दौरान हुईं 292 मौतें शामिल हैं। सक्रिय मामलों में दो हजार से ज्यादा की कमी आई है और इनकी संख्या अब 1,73,728 रह गई है जो कुल मामलों का 0.51 प्रतिशत है।


वहीं, शनिवार शाम जारी हुए आकंड़ों के अनुसार केरल में पिछले 24 घंटों के अंदर 8,909 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 65 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। 8,780 लोग संक्रमण से ठीक भी हुए हैं। पिछले 24 घंटे में 86,111 कोरोना की की जांचें की गईं हैं। केरल में कोरोना के कुल सक्रिय मामले 80,555 बने हुए हैं।

केंद्र ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अब तक 105.7 करोड़ टीके दिए


मंत्रालय ने बताया कि केंद्र सरकार की तरफ से अब तक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोरोना रोधी वैक्सीन की 105.7 करोड़ डोज उपलब्ध कराई गई हैं। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी 12 करोड़ से ज्यादा टीके उपलब्ध हैं।

देश में कोरोना की स्थिति

24 घंटे में नए मामले 16,326

कुल सक्रिय मामले 1,73,728

24 घंटे में टीकाकरण 68.48 लाख


कुल टीकाकरण 101.96 करोड़

शनिवार सुबह 08:00 बजे तक कोरोना की स्थिति

नए मामले 16,326

कुल मामले 3,41,59,562

सक्रिय मामले 1,73,728

मौतें (24 घंटे में) 666

कुल मौतें 4,53,708

ठीक होने की दर 98.16 फीसद

मृत्यु दर 1.33 फीसद

पाजिटिविटी दर 1.20 फीसद

सा.पाजिटिविटी दर 1.24 फीसद


जांचें (शुक्रवार) 13,64,681

कुल जांचें 59,84,31,162

शनिवार शाम 06:00 बजे तक किस राज्य में कितने टीके

तमिलनाडु 15.31 लाख

बंगाल 11.14 लाख

उत्तर प्रदेश 8.32 लाख

महाराष्ट्र 5.19 लाख

मध्य प्रदेश 3.82 लाख

बिहार 2.75 लाख

गुजरात 2.69 लाख


राजस्थान 1.04 लाख

पंजाब 0.87 लाख

छत्तीसगढ़ 0.86 लाख

हरियाणा 0.80 लाख

दिल्ली 0.73 लाख

झारखंड 0.65 लाख

जम्मू-कश्मीर 0.36 लाख

उत्तराखंड 0.33 लाख

हिमाचल 0.29 लाख