Coronavirus: तो हिंदुस्तान में इसलिए करना पड़ा 21 दिनों का लॉकडाउन

Coronavirus: तो हिंदुस्तान में इसलिए करना पड़ा 21 दिनों का लॉकडाउन

नई दिल्ली। हिंदुस्तान में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मुद्दे तेजी से बढ़ रहे हैं। अब तक कोविड-19  संक्रमण के 580 कंफर्म केस सामने आ चुके हैं। इनमें से 11 लोगों की जान भी जा चुकी है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने देश में मंगलवार आधी रात से 21 दिनों तक लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है। देश में 15 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा। बेशक लॉकडाउन से लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है, लेकिन इसकी एक बड़ी वजह भी है।

दरअसल, कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच पिछले दिनों 64 हजार के करीब भारतीय व विदेशी यहां आए हैं। ऐसे में संक्रमण फैलना का खतरा व ज्यादा बढ़ गया है। वैसे भी ये बीमारी हिंदुस्तान में बाहर से ही आई है। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती के साथ पालन किया जाना बेहद महत्वपूर्ण है। यही वजह है कि सरकार ने सारे हिंदुस्तान में लॉकडाउन व कुछ जगहों पर कर्फ्यू लगा दिया है।

21 दिनों का ही लॉकडाउन क्यों?
अधिकारियों ने बोला कि 21 दिनों का लॉकडाउन लगाने के पीछे बड़ी वजह लोगों की लापरवाही है। दरअसल विदेश से लौटे कई लोगों को होम क्वारंटाइन रे रहने को बोला गया है। इसके कई बावजूद कई ऐसे लोग ट्रेन या सड़क पर घूमते पक़ड़े गए। ऐसे में वह खुद या जिनके सम्पर्क में वे आए कोरोना के मुख्य वाहक हो सकते हैं।

विदेश से आए लोगों में अगर कोरोना वायरस है, तो सोशल डिस्टेंसिंग होने पर वायरस बाकी लोगों में नहीं फैल पाएगा। ऐसे में जिस आदमी में कोरोना से संक्रमित के लक्षण होंगे, वो 14 दिन के अंदर दिख जाएंगे, जिसके बाद तुरंत उपचार भी प्रारम्भ हो जाएगा। इस दौरान जो पहले से कोरोना पॉजिटिव हैं, उनका उपचार भी पूरा होने की उम्मीद है। वैसे देश में 1,87,904 लोगों को देखरेख में आइसोलेशन में रखा गया है।

लॉकडाउन में भी आपको मिलती रहेंगी ये सुविधाएं
लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवा को मुक्त रखा गया है यानी सब्जी, राशन, दवा, फल की दुकानें खुली रहेंगी। बैंक, इंश्योरेंस दफ्तर व एटीएम खुले रहेंगे। पेट्रोल पंप, सीएनजी पंप, गैस रिटेल खुले रहेंगे। अस्पताल, डिस्पेंसरी, क्लीनिक, नर्सिंग होम खुले रहेंगे। प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के दफ्तर खुले रहेंगे। इंटरनेट, ब्रॉडकास्ट व केबल सर्विस जारी रहेगी।

किस प्रदेश में कितने कोरोना वायरस से संक्रमित?
कोरोना वायरस से आंध्र प्रदेश में 7, बिहार में 4, छत्तीसगढ़ में 1, चंडीगढ़ में 6, दिल्ली में 29, गुजरात में 38, हरियाणा में 30, हिमाचल प्रदेश में 2, जम्मू और कश्मीर में 7, कर्नाटक में 41, केरल में 105, लद्दाख में 13, मध्य प्रदेश में 9, महाराष्ट्र में 112, मणिपुर में 1, ओडिशा में 2, पुदुचेरी में 1, पंजाब में 29, राजस्थान में 36, तमिलनाडु में 18, तेलंगाना में 39, यूपी में 35, उत्तराखंड में 5 व पश्चिम बंगाल में 9 केस सामने आए हैं। अब तक 11 लोगों की मृत्यु भी हो चुकी है।