देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुये, ट्रैवल टाइम कम करने के लिए रेलवे बना रहा ये प्लान

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुये, ट्रैवल टाइम कम करने के लिए रेलवे बना रहा ये प्लान

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (Coronavirus Pandemic) के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इंडियन रेलवे वे (Indian Railway) ट्रेनों के संचालन के लिए नया प्लान तैयार कर रहा है। इंडियन रेलवे वे मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए एक जीरो-बेस्ड टाइम टेबल (Zero-based Timetable) तैयार कर रहा है। जीरो-बेस्ट टाइम टेबल का मतलब है कि सभी यात्री ट्रेनों का शेड्यूल व उनकी फ्रिक्वेंसी नए सिरे से तैयार की जाएगी।   नए टाइम टेबल में बहुत सी ट्रेनों के स्टॉपेज में कटौती की जा सकती है। ताकि ट्रेन को जल्द से जल्द डेस्टिनेशन स्टॉपेज पर पहुंचाया जा सके।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, रेलवे अपनी सभी मेल, एक्सप्रेस व कुछ अन्य ट्रेनों के हॉल्ट को कम करना चाहता है, ताकि इससे गंतव्य तक पहुंचने में ट्रेनों के यात्रा समय को घटाया जा सके। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने बोला था कि कोरोना वायरस महामारी के कारण इस निर्णय को लागू करने में देरी हुई है, लेकिन इसे लागू किया जाएगा। रेलवे स्टॉपेज में कौटती बाद में करेगा पहले वो ये आंकलन करेगा कि जिस स्टेशन का हॉल्ट समाप्त किया जाएगा, वहां से कितने यात्री उतरते चढ़ते हैं। रेलवे ने ये भी बोला है कि जब प्राइवेट ट्रेनें पटरी पर दौड़ने लगेंगी तो उनका भी टाइम टेबल जीरो बेस्ट होगा।

 इन रूट पर चलेंगी ये खास ट्रेनें

अप्रैल 2020 तक देश में 44 प्राइवेट ट्रेनें दौड़ेंगी। इंडियन रेलवे वे (Indian Railway) ने 30,000 करोड़ रुपए के प्राइवेट ट्रेन प्रॉजेक्ट की आरंभ 109 जोड़ी रूट्स पर रिक्वेस्ट फॉर क्वालिफिकेशंस (RFQs) को आमंत्रित करके की है। सरकार ने 5 प्रतिशत ट्रेनों के निजीकरण का निर्णय किया है। यह PPP मॉडल के तहत होगा। बाकी 95 प्रतिशत ट्रेनें रेलवे की तरफ से ही चलाई जाएंगी। सभी प्राइवेट ट्रेन 12 क्लस्टर में चलाई जाएंगी। ये क्लस्टर- बेंगलुरू, चंडीगढ़, चेन्नई, जयपुर, दिल्ली, मुंबई, पटना, प्रयागराज, सिकंदराबाद, हावड़ा होंगे।