घर लौट रहे कामगारों की सहायता के लिए बीजेपी ने बढ़ाया हाथ, विशेष मुहिम की प्रारम्भ 

घर लौट रहे कामगारों की सहायता के लिए बीजेपी ने बढ़ाया हाथ, विशेष मुहिम की प्रारम्भ 

नई दिल्ली: घर लौट रहे कामगारों की सहायता के लिए बीजेपी ने विशेष मुहिम प्रारम्भ की है. यूपी और हरियाणा की सीमा पर नौ सहायता केन्द्र बनाए गए हैं. अबतक 30 हजार लोगों की सहायता की गई है. अगले एक हफ्ते तक सहायता केन्द्र खुले रहेंगे. पिछले कई दिनों से कामगार वापस घर लौट रहे हैं. इन्हें घर पहुंचाने के लिए श्रमिक विशेष ट्रेनें चलाई जा रही हैं. बावजूद इसके कई लोग पैदल घर जा रहे हैं. इन्हें यूपी की सीमा पर रोक दिया जा रहा है.

इन कामगारों की मदद के लिए बीजेपी ने समिति गठित की है. इस समिति में प्रदेश संगठन महामंत्री सिद्धार्थन, दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी, प्रदेश बीजेपी मंत्री विक्रम बिधूड़ी और गजेंद्र यादव शामिल हैं.

उधर, बीजेपी ने दिल्ली सरकार पर सब्जी मंडियों की समस्याओं को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया है. मंडियों में कार्य करने वाले आढ़तियों के साथ दिल्ली प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग से चर्चा की. आढ़तियों ने समस्याएं हल करने व सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण प्रबंध करने की मांग की है. बीजेपी जल्द ही उनकी समस्या उपराज्यपाल अनिल बैजल के सामने रखेगी.

ऑड-इवेन का विरोध

मनोज तिवारी ने बोला कि इन मंडियों से पूरी दिल्ली में फल और सब्जी की आपूर्ति होती है. इसके बावजूद यहां कार्य करने वालों की समस्या को सरकार नजरअंदाज कर रही है. बिना किसी योजना के सम-विषम लागू किया गया है. चालान काटकर यहां कार्य करने वालों को परेशान किया जा रहा है. मंडियों को सुरक्षित ढंग से चलाने के लिए कोई ठोस व्यवस्था नहीं की गई है. प्रदेश मीडिया सह प्रभारी नीलकांत बक्शी ने बोला कि शुक्रवार को प्रदेश अध्यक्ष मंडियों के व्यापारियों और आढ़तियों से मुलाकात करेंगे. इनकी समस्याओं का ज्ञापन उपराज्यपाल को सौंपा जाएगा. इस मौके पर अनिल मल्होत्र, राजेंद्र शर्मा सहित कई आढ़ती उपस्थित थे.