पाकिस्तान ने तिहाड़ जेल में बंद यासीन मलिक की बिगड़ती सेहत पर जताई आपत्ति

पाकिस्तान ने  तिहाड़ जेल में बंद यासीन मलिक की बिगड़ती सेहत पर जताई आपत्ति

Yasin Malik: पाकिस्तान ने शुक्रवार को हिंदुस्तान के उप राजदूत को विदेश मंत्रालय में तलब किया और कश्मीरी अलगाववादी नेता यासीन मलिक की बिगड़ती स्वास्थ्य पर इस्लामाबाद की चिंता व्यक्त करते हुए एक आपत्तिपत्र सौंपा. दिल्ली की तिहाड़ कारागार में बंद मलिक ने 22 जुलाई को अनिश्चितकालीन भूख स्ट्राइक प्रारम्भ की थी. मलिक चाहता है कि गवर्नमेंट रूबैया सईद किडनैपिंग मुद्दे की सुनवाई कर रही जम्मू की एक न्यायालय में उसे भौतिक रूप से पेश होने की इजाजत दे, लेकिन हिंदुस्तान गवर्नमेंट ने इसकी स्वीकृति नहीं दी. मलिक इस मुद्दे में आरोपी है. 

पाकिस्तान ने आपत्तिपत्र में क्या कहा

गौरतलब है कि जम्मू और कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (JKLF) के प्रमुख को ब्लड प्रेशर में उतार-चढ़ाव के बाद बुधवार को राजधानी दिल्ली के डाक्टर राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. विदेश कार्यालय ने एक बयान में बोला कि भारतीय राजनयिक को मलिक को “कम से कम तीन दशक पहले हुई घटनाओं के इर्द-गिर्द गढ़े गए दो और फर्जी मामलों” में भारतीय ऑफिसरों के नवीनतम कदम पर पाक की गहरी निराशा के बारे में बताया गया. 

इसमें बोला गया, “यासीन मलिक की पत्नी मुशाल हुसैन मलिक की ओर से भारतीय पीएम को संबोधित एक पत्र भी उप राजदूत को सौंपा गया. पत्र में उनके पति की स्वास्थ्य स्थिति को देखते हुए कारागार से तुरन्त रिहाई की मांग की गई है.” पत्र में बोला गया कि मलिक की स्वास्थ्य इस महीने की आरंभ में भूख-हड़ताल पर जाने के उनके निर्णय के बाद से और खराब हो गई है. 

यासीन मलिक को कारागार से रिहा करने का आग्रह
दिल्ली की एक न्यायालय ने मई में जम्मू और कश्मीर के प्रमुख अलगाववादी नेताओं में से एक मलिक को उम्रकैद की सजा सुनाते हुए बोला कि क्रिमिनल का इरादा “भारत के विचार के दिल” पर हमला करना और जम्मू और कश्मीर को हिंदुस्तान संघ से जबरदस्ती अलग करना था. विदेश कार्यालय के बयान में बोला गया कि स्थिति की तात्कालिकता और मलिक के तेजी से बिगड़ते स्वास्थ्य संकेतकों को ध्यान में रखते हुए, हिंदुस्तान गवर्नमेंट से उसे फौरन मेडिकल केयर देने, तुरंत कारागार से रिहा करने, उसकी “भ्रामक” सजा को रद्द करने और उसके विरूद्ध अन्य सभी मामलों को वापस लेने का आग्रह किया गया है.