नाराज नेताओं ने फिर दिए बीजेपी में शामिल होने के संकेत

नाराज नेताओं ने फिर दिए बीजेपी में शामिल होने के संकेत

  गोवा कांग्रेस पार्टी में चल रही कलह शांत नहीं हुई है और एक बार फिर से पार्टी के कई विधायकों ने भाजपा में शामिल होने के कोशिश प्रारम्भ कर दिए हैं पिछले हफ्ते कांग्रेस पार्टी ने पार्टी विधायकों के बगावती तेवर पर पर्दा डालने की प्रयास की थी लेकिन पार्टी के ये कोशिश नाकाफी साबित हो रहे हैं समाचार है कि कांग्रेस पार्टी विधायकों का एक समूह गुट बनाने और बीजेपी में शामिल होने के लिए नए सिरे से कोशिश कर रहा है

हिन्दुस्तान में छपी रिपोर्ट के अनुसार, कई सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत और माइकल लोबो कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे सकते हैं 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में कांग्रेस पार्टी के 11 विधायक हैं और दलबदल विरोधी कानून के विरूद्ध कार्रवाई से बचने के लिए किसी भी समूह को दो-तिहाई विधायकों की सहमति की आवश्यकता होगी यानी 8 विधायकों को पाला बदलना होगा

सूत्रों ने बताया कि, भाजपा इन कांग्रेस पार्टी विधायकों के निर्णय को लेकर उत्सुकता जताई है और कांग्रेस पार्टी नेताओं से अपनी योजना में तेजी लाने को बोला है हालांकि दिगंबर कामत और माइकल लोबो दोनों ने उन ताजा अटकलों पर बात करने के इनकार कर दिया कि वे भाजपा में शामिल हो रहे हैं

वहीं गोवा कांग्रेस पार्टी में जारी इस संकट को लेकर पार्टी ने सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया है कि, भाजपा ने उनके दो विधायकों दिगंबर कामत और माइकल लोबो के साथ मिलकर षड्यंत्र रचने का कोशिश किया था लेकिन यह प्रयास असफल हो गई बता दें कि गोवा में दिगंबर कामत एक बड़े अनुभवी नेता हैं और पूर्व में मुख्यमंत्री रह चुके हैं 1994 में कामत पहली बार भाजपा के टिकट पर चुनाव जीतकर विधायक बने थे

वहीं माइकल विंसेंट लोबो कलंगुट से कांग्रेस के विधायक हैं वह लंबे समय से गोवा की राजनीति में एक्टिव हैं वह हाल तक गोवा में विपक्ष के नेता थे लोबो इस वर्ष जनवरी तक बीजेपी के नेता थे गोवा विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने भाजपा छोड़कर कांग्रेस पार्टी का हाथ थाम लिया था