अमित शाह ने कांग्रेस पर बोला हमला, पूछा- बोडो क्षेत्र रक्त रंजित रहा

अमित शाह ने कांग्रेस पर बोला हमला, पूछा- बोडो क्षेत्र रक्त रंजित रहा

कोकराझार: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को असम को कोकराझार में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा।

गृह मंत्री शाह ने कहा, ‘जो कांग्रेस पार्टी अपने कार्यकाल में शांति, विकास नहीं ला सकी, वो आज हमें सलाह दे रहे हैं। इतने वर्षों तक असम रक्त-रंजित रहा, बोडो क्षेत्र रक्त-रंजित रहा, क्या किया आपने? जो भी किया भाजपा सरकार ने किया।’

गृहमंत्री ने कहा, ‘आत्मसमर्थन करने वाले सभी शरणार्थियों को 4 लाख रुपये की जो आर्थिक सहायता देनी थी, उसकी भी आज चेक के माध्यम से आपके सामने देने की शुरुआत भाजपा सरकार ने की है।’

हम पूर्वोतर के विकास का विजन पूरा करेंगे। बता दें कि इस साल असम में विधान सभा चुनाव होने वाले हैं और इस कारण अमित शाह का यह दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

बोडो क्षेत्र विकास के रास्ते पर आगे बढ़ेगा: अमित शाह
अमित शाह ने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा, ‘आज से ठीक एक साल पहले देश के प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में बोडो शांति समझौता हुआ और बोडो शांति समझौते के साथ प्रधानमंत्री जी ने संदेश दिया कि उत्तर पूर्व में जहां-जहां अशांति है, वहां बातचीत कीजिए और शांति का मार्ग प्रशस्त कीजिए।’

उन्होंने कहा, ‘वर्षों से चली आई समस्या ने 5000 से ज्यादा लोगों की जान ली, वो मोदी जी के दृढ़ निश्चय, मार्गदर्शन और हमारे प्रमोद जी के इनिशिएटिव के कारण आज ये समस्या शांत हो गई है और आने वाले अनेक वर्षों तक हमारा बोडो क्षेत्र तरक्की की राह पर आगे बढ़ता रहेगा।


अभी तो सेमीफाइनल जीता, फाइनल जीतना बाकी है
अमित शाह यही नहीं रुके बल्कि आगे कहा ‘बीजेपी ने असम में सेमीफाइनल जीता है और अब फाइनल जीतना बाकी है। याद दिला दें कि कि अभी हाल ही में असम में बोडोलैंड टैरिटोरियल काउंसिल (बीटीसी) चुनाव हुए थे, जिसमें बीजेपी को जीत मिली थी और अमित शाह ने इसी चुनाव को सेमीफाइनल करार दिया और विधान सभा चुनाव को उन्होंने फाइनल मैच बताया है।


देश पर नया खतरा! ये आतंकी संगठन चर्चा में...

देश पर नया खतरा! ये आतंकी संगठन चर्चा में...

नई दिल्ली। हाल के दिनों में दो बड़ी घटनाओं की जिम्मेदारी लेने के बाद आतंकी संगठन जैश-उल-हिंद इन दिनों काफी चर्चाओं में है। इस संगठन ने देश के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित घर के बाहर विस्फोटकों से भरी गाड़ी खड़ी करने के मामले की जिम्मेदारी ली है। इससे पहले दिल्ली में इजरायली दूतावास के बाहर हुए धमाके की जिम्मेदारी भी इसी संगठन ने ली थी।

इन दो घटनाओं के बाद आतंकी संगठन जैश-उल-हिंद सुरक्षा और जांच एजेंसियों के लिए बड़ी चुनौती बन गया है और एजेंसियां इस आतंकी संगठन की कुंडली खंगालने में जुट गई हैं। माना जा रहा है कि इस आतंकी संगठन के तार पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से जुड़े हो सकते हैं।

खंगाली जा रही जैश-उल-हिंद की कुंडली
पूरे देश में सनसनी फैला देने वाली इन दो बड़ी घटनाओं के बाद देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी एनआईए भी जैश-उल-हिंद की बारे में पड़ताल करने में जुट गई है। एनआईए इस बात की खोजबीन में जुटी हुई है कि संगठन के तार किस-किससे जुड़े हुए हैं।
सूत्रों के मुताबिक इजरायली दूतावास के बाहर धमाके की घटना के बाद मुंबई में मुकेश अंबानी के घर के बाहर धमाके करके देश में दहशत फैलाने की साजिश रची गई थी।

पहले किसी घटना में नहीं आया नाम
जैश-उल-हिंद जांच एजेंसियों के लिए इसलिए भी पहेली बना हुआ है क्योंकि पहले किसी बड़ी घटना में इस संगठन का नाम नहीं आया था। इजराइली दूतावास के बाहर ब्लास्ट की घटना में पहली बार संगठन का नाम सामने आया था।

दिल्ली में 29 जनवरी को इजरायली दूतावास के बाहर धमाके में करीब 5 गाड़ियों को नुकसान पहुंचा था। यह धमाका तब हुआ था जब कुछ ही दूरी पर बीटिंग रीट्रीट का कार्यक्रम चल रहा था और देश के बड़े वीआईपी कार्यक्रम में मौजूद थे।

बाद में जैश-उल-हिंद ने दावा किया था कि उसने इसरायली दूतावास के पास धमाका कराया है। खुफिया एजेंसियों को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म टेलीग्राम पर एक चैट से जैश-उल-हिंद के इस घटना को अंजाम देने की बात पता चली थी।

पाकिस्तान से मिल रही है मदद
अब जांच एजेंसियां संगठन की कुंडली खंगालने में जुट गई हैं। सूत्रों के मुताबिक अभी तक की जानकारी के अनुसार जैस-उल-हिंद एक कट्टर इस्लामिक आतंकी संगठन है। जांच एजेंसियों को इस बात का शक है कि यह संगठन एक सेल्फ मोटिवेटेड मॉड्यूल है जो बड़ी घटनाओं को अंजाम देकर अपनी पहचान बनाने की कोशिश में जुटा हुआ है।

जानकारों के मुताबिक ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि संगठन के तार पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से जुड़े हो सकते हैं। इस आतंकी संगठन की ओर से जिस तरह के विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया है और इसके काम करने के तरीके से इसके तार सरहद पार पाकिस्तान से जुड़े होने का संकेत हैं। हालांकि संगठन की विचारधारा अलकायदा से जुड़ी मानी जा रही है।

संगठन से जुड़े हैं कट्टरपंथी युवा
जांच एजेंसियां का मानना है कि हाल में बने इस संगठन से अधिकांश कट्टरपंथी सोच वाले नौजवान जुड़े हुए हैं। ये नौजवान तकनीकी जानकारी रखने वाले हैं। साथ ही विस्फोटक हासिल करने में भी उन्हें ज्यादा कठिनाई नहीं होती है।

उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर विस्फोटक से भरी गाड़ी के मामले में भी इसी संगठन का नाम सामने आया है। इस संगठन ने टेलीग्राम ऐप के जरिए इस बात की जिम्मेदारी ली है।

जांच एजेंसी को दी धमकी
आतंकी संगठन की ओर से मैसेज के जरिए जांच एजेंसी को चुनौती भी दी गई है। इस धमकी में कहा गया है कि रोक सकते हो तो रोक लो। तुम उस समय भी कुछ नहीं कर पाए थे जब हमने तुम्हारी नाक के नीचे दिल्ली में तुम्हें हिट किया था। तुमने मोसाद के साथ हाथ मिलाया है, लेकिन कुछ नहीं कर सके और बुरी तरह फेल साबित हुए।

बड़ी घटनाओं को अंजाम देने की साजिश
सूत्रों के मुताबिक हाल के दिनों में देश में हुई दो बड़ी घटनाओं में इस आतंकी संगठन का नाम आने के बाद यह बात साफ है कि आने वाले दिनों में भी इस संगठन की ओर से कुछ और बड़ी घटनाओं को अंजाम दिया जा सकता है।

यही कारण है कि सुरक्षा एजेंसियां इस संगठन को लेकर काफी सतर्क हो गई है। जम्मू-कश्मीर में हाल के दिनों में आतंकी घटनाओं में गिरावट आई हैं मगर यह आतंकी संगठन सुरक्षा एजेंसियों के लिए सिरदर्द दिख रहा है।


लुटेरों ने ट्रेन पर बोला धावा, 6 बोगियों में यात्रियों से की जमकर लूटपाट       देश पर नया खतरा! ये आतंकी संगठन चर्चा में...       मराठी भाषा दिवस कार्यक्रम में बिना मास्क के दिखे राज ठाकरे, बोले...       14 मार्च तक स्कूल-कॉलेज और कोचिंग बंद, पुणे में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार       केजरीवाल ने कहा कि अंग्रेजों ने किसानों पर इतने जुल्म नहीं किए, BJP ने उन्हें भी पीछे छोड़ दिया       Tiger 3: सलमान खान, कटरीना कैफ और इमरान हाशमी ने पूजा में लिया भाग       Alaya Furniturewalla रुमर्ड बॉयफ्रेंड ऐश्वर्य ठाकरे के साथ फिर आई नजर       जब सबके सामने आलिया भट्ट-रणबीर कपूर गलती से करने वाले थे लिप-लॉक       इस एक्टर के खिलाफ जारी हुआ नोटिस, फिल्म 'रुस्तम' से जुड़ा हुआ है मामला       इस एक्ट्रेस की हमशक्ल निकली पाकिस्तानी महिला आमना इमरान       कोरोना से संक्रमित गर्भवती महिलाओं को नहीं है स्टिलबर्थ या गर्भपात का ख़तरा अधिक       कमर की चर्बी कम करने के साथ ही पाचन भी दुरुस्त रखेगा कटिचक्रासन       इन गलतियों के चलते नहीं बढ़ते हैं आपके बाल, अपनाएं ये उपाय       इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ ही हड्डियों को मजबूत करता है नारियल       वज़न कंट्रोल करने से लेकर दिल की सेहत का भी ख़्याल रखता है गुलकंद       हफ्ते में कितनी बार वजन नापना सही होता है, जानें       तेजी से वज़न कम कर रहे हैं तो उसके साइड इफेक्ट भी जान लीजिए नहीं तो...       तनाव के लिए रामबाण दवा है पुदीना, इस तरह से करें इस्तेमाल       अस्थमा और हायपरटेंशन के मरीज रोजाना करें यह योगासन, जानें       प्रदूषण की वजह से बढ़ रही हैं फेफड़ों से जुड़ी बीमारियां