अच्छी खबर: भारत को जल्द मिलेगी दो और कोरोना वैक्सीन

अच्छी खबर: भारत को जल्द मिलेगी दो और कोरोना वैक्सीन

नई दिल्ली: देश में दो कोरोना वैक्सीन को आपात मंजूरी मिलने के बाद 16 जनवरी से कोरोना के खिलाफ टीकाकरण कार्यक्रम शुरू होने जा रहा है। सरकार के प्लान के तहत देश के कई राज्यों में वैक्सीन पहुंचनी भी शुरू हो चुकी है। इस बीच देश को दो और टीके मिलने की संभावना जताई गई है। दरअसल, अगले महीने में कोरोना की दो अन्य वैक्सीन सामने आ रही हैं।

ये दो टीके जल्द हो सकते हैं उपलब्ध
इनमें एक स्वदेशी है, जो कि जाइडस कैडिला कंपनी का है। वहीं दूसरा टीका रूस का स्पूतनिक-5 टीका है। फिलहाल इन दोनों वैक्सीन का ही अंतिम फेज का ट्रायल चल रहा है। सरकार के प्लान के मुताबिक, मार्च महीने के पहले हफ्ते तक चार और अप्रैल के अंत तक देश में पांच तरह के टीके उपलब्ध होंगे। तब तक अनुमान है कि देश में तीन करोड़ हेल्थ वर्कर्स और सुरक्षा जवानों को वैक्सीन दे दी जाएगी।

पांच तरह के टीके आने के बाद कीमत भी होगी कम
वहीं अगर बाजार में एक बार पांच तरह के टीके उपलब्ध हो जाते हैं तो इनकी कीमतों में भी कमी आएगी। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य सरकारों के साथ मिलकर टीके की कीमतों पर विचार करेंगे। आपको बता दें कि वैक्सीनेशन शुरू होने से पहले ही इसकी कीमतों को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। एक तरफ राज्यों की डिमांड है कि केंद्र टीकाकरण पर खर्च के लिए मदद करे, वहीं दूसरी ओर आम जनता के लिए टीके की कीमत क्या होगी यह अभी तक तय नहीं हुआ है।

क्या है केंद्र का प्लान?
बीते सोमवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम मोदी की हुई बैठक में कुछ राज्यों ने यह मांग की थी कि वैक्सीनेशन का पूरा खर्च केंद्र उठाए। इस पर पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ सरकार की योजना को साझा करते हुए कहा था कि अगले दो से तीन महीने में देश में चार से पांच तरह के टीके उपलब्ध होंगे, जिसके बाद फिर से बैठक कर कीमत और बजट पर चर्चा की जाएगी।

अभी इन्हें दी जा रही है प्राथमिकता
फिलहाल देश में टीकाकरण के पहले चरण में कुछ खास लोगों को प्राथमिकता दी जा रही है। केंद्र सरकार के मुताबिक कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीन के लिए प्राथमिकता वाले समूहों में  संक्रमित होने या मृत्यु का खतरा ज्यादा होने वाले लोग, हेल्थ वर्कर्स, फ्रंट लाइन वर्कर्स, 50 वर्ष के ऊपर के उम्र वाले लोग और पहले से बीमार व्यक्ति शामिल हैं। अभी हर किसी को टीका उपलब्ध नहीं होगा, लेकिन जून तक मार्केट में टीका उपलब्ध होने की उम्मीद है।

भारत में फिलहाल सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक के स्वदेश में विकसित टीके ‘कोवैक्सीन’ के देश में सीमित आपात इस्तेमाल को भारत के औषधि नियामक की ओर से मंजूरी दी गई है।


अमित शाह ने कांग्रेस पर बोला हमला, पूछा- बोडो क्षेत्र रक्त रंजित रहा

अमित शाह ने कांग्रेस पर बोला हमला, पूछा- बोडो क्षेत्र रक्त रंजित रहा

कोकराझार: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को असम को कोकराझार में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा।

गृह मंत्री शाह ने कहा, ‘जो कांग्रेस पार्टी अपने कार्यकाल में शांति, विकास नहीं ला सकी, वो आज हमें सलाह दे रहे हैं। इतने वर्षों तक असम रक्त-रंजित रहा, बोडो क्षेत्र रक्त-रंजित रहा, क्या किया आपने? जो भी किया भाजपा सरकार ने किया।’

गृहमंत्री ने कहा, ‘आत्मसमर्थन करने वाले सभी शरणार्थियों को 4 लाख रुपये की जो आर्थिक सहायता देनी थी, उसकी भी आज चेक के माध्यम से आपके सामने देने की शुरुआत भाजपा सरकार ने की है।’

हम पूर्वोतर के विकास का विजन पूरा करेंगे। बता दें कि इस साल असम में विधान सभा चुनाव होने वाले हैं और इस कारण अमित शाह का यह दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

बोडो क्षेत्र विकास के रास्ते पर आगे बढ़ेगा: अमित शाह
अमित शाह ने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा, ‘आज से ठीक एक साल पहले देश के प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में बोडो शांति समझौता हुआ और बोडो शांति समझौते के साथ प्रधानमंत्री जी ने संदेश दिया कि उत्तर पूर्व में जहां-जहां अशांति है, वहां बातचीत कीजिए और शांति का मार्ग प्रशस्त कीजिए।’

उन्होंने कहा, ‘वर्षों से चली आई समस्या ने 5000 से ज्यादा लोगों की जान ली, वो मोदी जी के दृढ़ निश्चय, मार्गदर्शन और हमारे प्रमोद जी के इनिशिएटिव के कारण आज ये समस्या शांत हो गई है और आने वाले अनेक वर्षों तक हमारा बोडो क्षेत्र तरक्की की राह पर आगे बढ़ता रहेगा।


अभी तो सेमीफाइनल जीता, फाइनल जीतना बाकी है
अमित शाह यही नहीं रुके बल्कि आगे कहा ‘बीजेपी ने असम में सेमीफाइनल जीता है और अब फाइनल जीतना बाकी है। याद दिला दें कि कि अभी हाल ही में असम में बोडोलैंड टैरिटोरियल काउंसिल (बीटीसी) चुनाव हुए थे, जिसमें बीजेपी को जीत मिली थी और अमित शाह ने इसी चुनाव को सेमीफाइनल करार दिया और विधान सभा चुनाव को उन्होंने फाइनल मैच बताया है।


केविन पीटरसन ने कहा कि इंग्लैंड अगर सर्वश्रेष्ठ टीम के साथ नहीं खेला, तो ये टीम इंडिया का अपमान होगा       भारत की जीत के बाद गावस्कर ने खास अंदाज में मनाया था जश्न, कहा...       अजिंक्य रहाणे की सफलता से विराट कोहली पर बढ़ा दबाव, दिग्गज बोले...       पाकिस्तान के खिलाड़ियों को बड़ी टीमों के खिलाफ कैसे खेलना है, बाबर आजम ने बताया       जो रूट ने श्रीलंका के खिलाफ शतक लगाकर बतौर कप्तान बनाया नया वर्ल्ड रिकॉर्ड, विराट, सचिन व फ्लेमिंग पीछे छूटे       अब आएगा इस स्पिनर का टाइम, ऑस्ट्रेलिया में नहीं खेल पाए एक भी मैच       इन दिग्गजों का नाम है शामिल, Ind vs Eng टेस्ट सीरीज के लिए कमेंट्री टीम का ऐलान!       इंग्लैंड के खिलाफ स्टेडियम में दिख सकते हैं दर्शक, लेकिन...       पाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ कराची टेस्ट के लिए टीम की घोषणा की, इतने अकैप्ड खिलाड़ियों को मिला मौका       शार्दुल ठाकुर को ब्रिसबेन टेस्ट के बाद मिला नया 'निकनेम', सचिन तेंदुलकर का नाम भी साथ जोड़ा गया       अगले वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा 5.5 फीसद तक सिमटने का अनुमान, कोरोना काल में सरकार के वित्तीय प्रबंधन का दिखेगा असर       निवेशकों के लिए टाइमिंग समझना होता है बड़ी उलझन, यह रणनीति आएगी काम       इलेक्ट्रिक कार उद्योग को बजट से बड़ी सौगात की उम्मीद, चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने में प्रोत्साहन की दरकार       अपने पिछले उच्च स्तर से 8,000 रुपये टूट चुका है सोना, चांदी भी 12,500 रुपये टूटी       इस महीने भी विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक बने हुए हैं शुद्ध खरीदार, अब तक कर चुके हैं 18,456 करोड़ रुपये का निवेश       बजट से पहले भी बाजार में आ सकती है अच्छी खासी गिरावट, जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट       Budget 2021: भारतीय कंपनियों ने Deloitte सर्वे में बताई बजट को लेकर अपनी उम्मीदें       कौन हैं नताशा दलाल को महेंदी लगाने वाली आर्टिस्ट वीना नगाड़ा, ईशा अंबानी और दीपिका को भी कर चुकी हैं तैयार       रिचा चड्ढा ने कहा कि जब तक लोकतंत्र है लोगों को मुखर होना चाहिए       Bigg Boss 14 : सोनाली फोगाट को खाने को लेकर निक्की, अर्शी और रुबीना से पड़ी जमकर डांट