दादी-नानी के खास घरेलू उपचार बचाएंगे लू से , बस करने होंगे ये काम

दादी-नानी के खास घरेलू उपचार बचाएंगे लू से , बस करने होंगे ये काम

तपतपाती गर्मी ने लोगों का जीना कठिन कर रखा है। साथ ही लू के चलते लोग व ज्यादा परेशान हैं। कोरोना महामारी (Covid-19) व लॉकडाउन (Lockdown) से घबराकर पैदल ही घर लौटने को विवश श्रमिकों के लिए यह लू जानलेवा भी साबित हो सकती है। गर्मियों के दिनों में कई बार लू लगने से लोगों की मृत्यु हो जाती है। लू (Heat Wave) लगते ही पैरों के तलुओं में जलन, आंखों में जलन के साथ बेहोशी की हालत बन जाती है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है कि हमें पता हो कि लू लगने से बचने (Beat The Heat) के लिए हमें क्या करना चाहिए। आइए आपको बताते हैं दादी-नानी के कुछ घरेलू नुस्खों के बारें में जिनके प्रयोग से आप लू से बच सकते हैं।

लू से बचने के लिए अपनाएं ये उपाय

मास्क पहनने से संक्रामक रोगों से बचा जा सकता है। वहीं अगर धूप व लू से बचना है तो घर से बाहर निकलते समय छाता साथ में जरूर रखें या फिर सिर को कपड़े या टोपी से ढक कर निकलें। गर्मी के दिनों में बार बार ठंडा शरबत पिएं जैसे आम पना, शिकंजी, खस का शर्बत। ये सभी शरीर को बहुत अधिक लाभ करते हैं।

बाहर जाते समय खाली पेट बिल्कुल न जाएं। शरीर का एनर्जी लेवल इस मौसम में जल्द कम हो जाता है जिसके कारण लू लगने की आसार बढ़ जाती है।

अगर आप एसी या कूलर में से किसी बिल्कुल ठंडे जगह पर हैं तो आकस्मित से ज्यादा गर्म स्थान पर न जाएं। इससे भी लू लगने का खतरा होने कि सम्भावना है।

गर्मी के दिनों में बार-बार पानी पिएं ताकि शरीर में पानी की कमी न हो पाए।

भूल कर भी तेज धूप से आते ही पानी न पिएं। शरीर को थोड़ी देर सुस्ता लें तब जाकर पानी पिएं। वो भी चिल्ड पानी नहीं होना चाहिए।

ज्यादा पसीना आने पर भी तुरंत ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए, यह खतरनाक साबित होने कि सम्भावना है।

मौसमी फल जैसे कि आम, लीची, तरबूज, खरबूज लू से बचाते हैं। इनका सेवन जरूर करें। इसके अतिरिक्त दही, मठ्ठा, जीरा छाछ, लस्सी, जलजीरा, आम का पना भी पीते रहें।

गर्मी के दिनों में आप नींबू पानी दिन में दो से तीन बार पी सकते हैं। इसमें आप हल्के नमक व चीनी का मिलावट कर सकते हैं।

गर्मी के दिनों में हल्का भोजन करना चाहिए, लेकिन इसका मतलब यह नहीं की आप अपने डाइट में कमी कर दें। हल्का लेकिन पेट भर के खाना खाएं।

प्रयास करें की खाने में दही का सेवन जरूर करें। यह आपके शरीर को अंदर से ठंडा रखता है।

सब्जियों का सूप बनाकर पीना भी लू से बचा सकता है।

गर्मी के मौसम में खाने के बाद गुड़, टमाटर की चटनी, नारियल व पेठा जरूर खाएं। इससे भी लू लगने का खतरा कम होता है।

वहीं पौराणिक उपचारों के अनुसार धूप से आते ही प्याज के रस को शहद में मिलाकर चाटें। इससे भी लू लगने का खतरा कम होता है।

मान्यता है कि प्याज को घिसकर नाखून पर लगाने से लू नहीं लगती है। इतना ही नहीं कच्चा प्याज खाने से भी लू से बचा जा सकता है।

लू लगने के बाद क्या करें

दादी-नानी के घरेलू नुस्खों के अनुसार लू लगने के बाद इससे बचने के लिए कच्चे आम का लेप शरीर पर लगाना चाहिए।

इसके अतिरिक्त आम की गुठलियों से पैरों के तलवों पर मालिश भी करनी चाहिए।

गर्मी के कारण अगर शरीर पर घमौरियां हो गई हैं तो बेसन को पानी में घोलकर घमौरियों वाले जगह पर लगाने से राहत मिलती है।