तपतपाती गर्मी में ऐसे रखें अपना ख्याल

तपतपाती गर्मी में ऐसे रखें अपना ख्याल

गर्मी के सीजन (Summer Season) में लोग सबसे ज्यादा बीमार पड़ते हैं। इस मौसम में कई तरह की बीमारियां लोगों को प्रभावित करती हैं। इस मौसम में स्किन समस्याएं (Skin Problem) भी बहुत हद तक बढ़ जाती हैं। गर्मियों में महत्वपूर्ण है कि अपने खानपान से लेकर पहनावे तक का पूरी तरह से ख्याल रखा जाए। इस समय स्वास्थ्य के प्रति ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है। गर्मी ज्यादा परेशान न करे इसके लिए महत्वपूर्ण है कि प्रातः काल जल्दी उठकर अपना पूरा रूटीन (Routine) बनाया जाए। इस मौसम में डाइट (Diet) का ध्यान रखना भी बहुत महत्वपूर्ण होता है। आइए जानते हैं गर्मियों में कैसे आप अपना ख्याल रख सकते हैं। अपनाएं ये खास व महत्वपूर्ण टिप्स।

हेल्थ ड्रिंक का जरूर करें सेवन
गर्मी में सबसे ज्यादा आवश्यकता एनर्जी ड्रिंक्स की होती है। इससे न सिर्फ बॉडी को एनर्जी मिलती है बल्कि शरीर में पानी की कमी भी पूरी होती है। गर्मी में छाछ, फ्रूट जूस, मिल्क शेक, ग्रीन सलाद को जरूर शामिल करना चाहिए। वहीं सलाद में खीरा व ककड़ी का सेवन जरूर करें।

शरीर को रखें हाईड्रेटेड

शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए गर्मियों में तरबूज भी लाभकारी होता है। इस मौसम में नाश्ते में जूस को जरूर शामिल करें। इससे दिनभर एनर्जी बनी रहेगी। लंच में हल्का खाना खाएं। इस मौसम में स्पाइसी व तीखा खाने से बचना चाहिए। लंच व डिनर के बीच एनर्जी ड्रिंक जरूर लेते रहें। कोल्ड ड्रिंक का सेवन गर्मी में कम से कम करें, क्योंकि इनसे कुछ देर के लिए राहत तो मिल जाती है, लेकिन स्वास्थ्य के लिए यह नुकसानदायक होते हैं।

गर्मियों में कूल कपड़े करें कैरी
आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि गर्मी में कूल बने रहने के लिए कार्गो, बरमूडा, शॉर्ट्स, जॉर्जेट, कॉटन व चिकन के कपड़े कूल एहसास कराने के साथ ही आरामदायक भी हैं। इस मौसम में चटक या डार्क रंगों के बजाय हल्के रंगों का प्रयोग करें। गर्मियों के लिए सफेद रंग सबसे ठीक होते हैं। गर्मी में हल्के कपड़ों के साथ भी फैशन को बरकरार रखा जा सकता है। लेनिन व कॉटन गर्मियों के लिहाज से सबसे उपयुक्त होते हैं। इनमें गर्मी कम लगती है।

स्किन के लिए अपनाएं हर्बल पैक
गर्मियों में स्किन की समस्याएं बहुत अधिक बढ़ जाती हैं। ऐसे में इनसे छुटकारा पाने के लिए हर्बल फेस पैक जरूर अपनाएं। गर्मियों में चेहरे पर ड्राईनेस नजर आने लगती है। इससे एलर्जी होने की आसार भी बढ़ जाती है। ऐसे में हर्बल फेस पैक रूखापन हटाने के साथ ही पोषण भी प्रदान करता है।

चेहरे पर वस्त्र बांधकर निकलें
वैसे तो इन दिनों लॉकडाउन की वजह से बाहर निकलना मना है लेकिन अगर आपको किसी इमरजेंसी की वजह से बाहर जाना पड़े तो फेस मास्क व कपड़े का प्रयोग जरूर करें। इन दिनों धूप तेज होने के कारण शरीर के खुले हिस्से सीधे प्रभावित होते हैं, इसलिए घर से बाहर निकलने से पहले चेहरे को किसी हल्के रंग के सूती के कपड़े से बांधकर ही बाहर निकलें। इससे कानों से गर्म हवा शरीर के अंदर प्रवेश नहीं करेगी। हाथों और पैरों को भी खुला न रखें। धूप से स्कीन बेकार होने के साथ ही धूल की वजह से एलर्जिक प्रॉब्लम भी हो सकती है।

चिल्ड पानी न पिएं
तपतपाती गर्मी से बचने के लिए घर में हर वक्त एसी ऑन करके न रखें। इसके अतिरिक्त बिल्कुल चिल्ड फ्रीज का पानी पीने से बचें। इसका स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है। रात में सोने से पहले एक बार दोबारा नहा लें या फिर अच्छी तरह से मुंह धो लें।

आंखों का रखें ख्याल
गर्मी में बॉडी के साथ ही आंखों पर भी ज्यादा नेगेटिव प्रभाव पड़ता है। इसलिए महत्वपूर्ण है कि इनका भी खास ख्याल रखा जाए। गर्मी के मौसम में आंखों में एलर्जी कंजक्टीवाइटिस का खतरा भी बढ़ जाता है। आंखों को ठंडे पानी में थोड़े अंतराल के बाद धोते रहें। इससे आंखों की ड्राईनेस दूर होती है। विटामिन सी व विटामिन ए से भरपूर फलों को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

हाईजीन का रखें ख्याल

गर्मी के दिनों में पसीना अधिक आता है, ऐसे में कीटाणुनाशक साबुन से स्नान करें। इससे इन्फेक्शन नहीं होगा। खाने से पहले हाथ जरूर धोएं। दो बार दांतों की सफाई करें। खाना खाने के बाद कुल्ला करना न भूलें।

व्यक्तिगत हाइजीन की ही तरह फूड हाइजीन भी ख्याल रखें। खाद्य पदार्थ को ढक कर रखें। इससे कई बीमारियों से बचा जा सकता है। फल व हरी पत्तेदार सब्जियों को अच्छी तरह से धोकर ही पकाएं। बाहर का खाने से बचें। फूड प्वॉइजनिंग का खतरा गर्मी में बहुत होता है।

घर के बाथरूम की साफ-सफाई पर भी उतना ही ध्यान देना चाहिए, जितना की आप खुद के ऊपर देते हैं। व्यक्तिगत हाइजीन में बाथरूम का अहम भूमिका होता है। ऐसे में बाथरूम की साफ-सफाई पर ध्यान न देने से इन्फेक्शन होने कि सम्भावना है। बाथरूम में सीलन न रहे, इसका ख्याल रखें। समय-समय पर बाल्टी, मग, टब, नल, शावर की अच्छी तरह से सफाई करें। टॉयलेट सीट को हर हफ्ते टॉयलेट क्लीनर से साफ करें।