शादी के बाद सबकी जिंदगी में आते हैं ये 5 बदलाव

शादी के बाद सबकी जिंदगी में आते हैं ये 5 बदलाव

शादी के बाद हर आदमी का ज़िंदगी बदल जाता है, चाहे वह लव मैरिज हो या फिर अरैंज मैरिज। आप इसके लिए कितने तैयार हैं इस बात का फर्क तब पड़ने लगता है जब आप अपने पार्टनर संग एक छत के नीचे 24 घंटे साथ रहने लगते हैं। जब आप अपने जीवनसाथी के साथ रहना प्रारम्भ करते हैं तो परिवर्तन नजर आने लगते हैं। कुछ कपल्स विवाह के बाद अपने आप को नयी जिंदगी में एडजस्ट कर लेते हैं लेकिन कुछ के लिए संयम व स्ट्रैस एक चुनौती बन जाता है।

आप विवाह के बाद प्रारम्भ हुई चुनौतियों को कैसे संभालते हैं व खुद को इन बदलावों में कैसे ढालते हैं यह आपके संबंध को एक नयी दिशा दिखाता है। आइए आपको बताते हैं ऐसे कौन से परिवर्तन है, जो विवाह के बाद आपकी जिंदगी में आते हैं व आप इन्हें कैसे संभाल सकते हैं।

सामने आती हैं कई अनकही बातें
जब आप अपने जीवनसाथी के साथ नए सफर की आरंभ करते हैं तो आपका पार्टनर आपसे कई तरह के गोपनीय शेयर करता है। ये राज विवाह से पहले बताने में हिचकिचाहट सी महसूस होती है। खासकर अरैंज मैरिज की बात करें तो उसमें कपल्स को एक दूसरे के साथ एडजस्ट होने में समय लगता है। आपका पार्टनर आपकी मजबूतियों के साथ-साथ आपकी कमजोरियों को भी पहचानने लगता है।

आप अपनी जिंदगी से जुड़े कई ऐसे रहस्यों के बारे में उन्हें बताते हैं, जिन्हें अभी तक आपने किसी को नहीं बताया होता है। विवाह के बाद कई ऐसे पल आते हैं जब आप अपेन पार्टनर की बातें सुनकर दंग होते हैं। ऐसे में आपको अपने दिल व अपने जीवनसाथी पर विश्वास करने की आवश्यकता होती है। आरंभ में यह बहुत सरल नहीं होता है लेकिन समय के साथ चीजें ठीक होने लगती हैं। ससुराल वालों के साथ आपके रिश्ते
विवाह के बाद ही ससुराल के नए लोगों के साथ एडजस्ट होना सरल नहीं होता। एक परिवार को छोड़कर दूसरे को अपनाने में थोड़ा समय लगता है। होने कि सम्भावना है कि आपकी सोच उन लोगों से न मिलती हो। ऐसे में थोड़ा संयम रखने की आवश्यकता होती है। विवाह से पहले अपने ससुराल वालों के बारे में कोई धारणा तय कर लेना आम बात है। हालांकि विवाह के बाद ही रिश्तों के बारे में असलियत पता चलती है। ये हमारे ज़िंदगी पर बहुत ही गंभीर असर भी डालता है।

कुछ वक्त अपने लिए
विवाह के बाद शुरुआती दिन बहुत ज्यादा मस्ती से कटते हैं लेकिन समय के साथ साथ चीजें बदलती रहती हैं। पहले तो आप ऐसी चीजों का अनुभव करेंगे, जिनके बारे में आपने सोचा भी नहीं होगा लेकिन बाद में दशा बदल जाते हैं। विवाह के बाद परिवार और दोस्तों के घर जाना या फिर घर का सामान खरीदने के लिए आप बहुत सा वक्त साथ में बिताएंगे।

उस वक्त आपको अपना पार्टनर ही आपकी दुनिया, घर व हर वस्तु लगने लगेगा लेकिन एक वक्त ऐसा आएगा कि आपको अपने लिए कुछ अलग वक्त की आवश्यकता महसूस होगी। बहुत सारे लोगों के बीच आपको कठिनाई लगेगी लेकिन संयम रख कर इससे निकलने की प्रयास करें।

जिम्मेदारियां बढ़ेंगी
विवाह के साथ ही जिम्मेदारियां बढ़ने लगती हैं। जब आप किसी से विवाह करते हैं तो आपको अपने पार्टनर की भी जिम्मेदारी उठानी होती है। इतना ही नहीं पत्नी को भी अपने ससुराल वालों की जिम्मेदारी उठानी पड़ती है। कभी-कभी जिम्मेदारियों का वजन इतना बढ़ जाता है कि आप अच्छा भी कार्य कर रहे हों तो आपको उसका श्रेय नहीं मिल पाता है। कुछ दिनों बाद जिम्मेदारी बोझ लगने लगती है। ऐसे में पार्टनर अपनी जिम्मेदारियों को एक दूसरे के साथ बांट लें। एक दूसरे के साथ अपनी समस्याओं को शेयर करें।

जरूरी है पैसा
विवाह में सिर्फ एक दूसरे का प्यार होना ही महत्वपूर्ण नहीं होता। अपनी जिम्मेदारियों को निभाने के लिए पैसे भी महत्वपूर्ण होते हैं। पैसों की कमी के चलते कई बार कपल्स के बीच लड़ाई भी हो जाती है। परिवार संभालने के लिए आथिर्क मजबूती बहुत महत्वपूर्ण होती है। पैसों की मदद से ही आप अपने परिवार को संभाल सकते हैं।