जानें क्या है संभोग की लत

जानें क्या है संभोग की लत

यह बात तो आज के समय में हम सभी जानते है कि संभोग को लेकर आज हर एक आदमी करे मन में लाखों सवाल उठ रहे है। वहीं कही न इस बात को लेकर लोगों में उत्सुकता तो कही इस बात को लेकर भय भी बना रहता है। तो कहीं कई बार संभोग को लेकर लोगों में एक तरफ संभोग कि लत व लोगों को इसका आदि बना देती है वहीं संभोग की लत में आदमी को संभोग का जुनून सवार हो जाता है व उसको संभोग करने की तीव्र ख़्वाहिश होती है। ऐसे में आदमी की सोच संभोग गतिविधियों तक ही सीमित हो जाती है, जिससे उसके अन्य काम प्रभावित होने लगते हैं। संभोग की तीव्र इच्छाएं नियंत्रित न हो पाने पर आदमी को समाजिक कार्यों में भी कठिनाई आने लगती है।

सेक्स की लत के लक्षण - मनोचिकित्सीय रूप से संभोग की लत, धूम्रपान और शराब की लत की तरह ही होती है, जिसमें दिमाग का एक विशेष भाग काम करता है। संभोग की लत वाले लोग कई अन्य तरह की सेक्सुअल गतिविधियों के भी आदी हो जाते हैं। इस स्थिति को पता लगा पाना कठिन होता है। इसमें आदमी को यौन संतुष्टि को पाने की बजाय यौन गतिविधि को ज्यादा पसंद करने लगता है। आदमी का ध्यान संतुष्टी स्थान पर गतिविधि पर ही केंद्रित हो जाता है।

1. हस्तमैथुन की लत लगना।
2. अधिक लोगों के साथ प्रेमसंबंध रखना व एक से अधिक के साथ संभोग करना।
3. अश्लील साहित्य को पढ़ना।
4. असुरक्षित यौन संबंध बनाना।
5. यौन कर्मियों (सेकस वर्कर: वेश्या) के पास जाना व वेश्यावृति करना।
6. एक्सिबीसनिज्म (Exhibitionism), यह एक मानसिक विकार है, जिसमें आदमी को अपने जननांग किसी अजनबी को दिखाने की लत होती है।
7. वोयरिज्म (Voyeurism), इसमें आदमी यौन आनंद पाने के लिए अन्य लोगों को संभोग करते हुए देखता है।