कोरोना के चलते बड़ी दाढ़ी बन सकती है आपके लिए खतरनाक

कोरोना के चलते बड़ी दाढ़ी बन सकती है आपके लिए खतरनाक

कोरोना वायरस (Coronavirus) का खतरा इस समय हर स्थान बना हुआ है। लोग डरे हुए हैं व अपने घरों में कैद हैं। इससे बचने के लिए, बार-बार हाथ धोने (Hand Wash) की सलाह दी जाती है, क्योंकि कोरोना वायरस कुछ सतहों पर कई दिनों तक जीवित रह सकता है। इस बीच सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेन्शन (सीडीसी) ने बोला है कि दाढ़ी वाले पुरुषों (Men with Beard) को इस वायरस (Virus) से जोखिम ज्यादा है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, दाढ़ी (Beard) व मूंछों (moustache) की भिन्न-भिन्न स्टाइल वायरस को लेकर बना सकती है। myUpchar से जुड़े एम्स के डाक्टर अजय मोहन का बोलना है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए स्वच्छता (Hygiene) का ध्यान रखा जाना चाहिए। बाहर निकलते समय मुंह पर मास्क (Mask) लगाना चाहिए व जब भी किसी वस्तु को छूना हो तो हाथों को समान रूप से धोना चाहिए। संक्रमित आदमी छींकने, खांसने या बोलने के दौरान एक स्वस्थ आदमी को खतरे में डाल सकता है।

इसके साथ ही सीडीसी ने बोला है कि मुंह ढंकने वाला मास्क बालों के कारण चेहरे पर अच्छा से नहीं लग पाता है। इस कारण से, कोरोना वायरस दाढ़ी वाले पुरुषों के सम्पर्क में आ सकते हैं। उसी तरह बढ़े हुए नाखून भी इस जोखिम को बढ़ा सकते हैं, क्योंकि यह हाथ धोने पर ठीक ढंग से साफ नहीं होते हैं। कोरोना वायरस से बचने के लिए स्वच्छता का पूरा ध्यान रखने के लिए बोला जाता है। दाढ़ी या नाखूनों को बारीकी से साफ करें ताकि यह ज़िंदगी के लिए कोई खतरा पैदा न करें।

सीडीसी की रिपोर्ट के अनुसार, चेहरे के बाल एक फिल्टर के रूप में काम नहीं कर सकते क्योंकि यह पर्याप्त घने नहीं हैं, जिसका मतलब है कि एक-एक बाल छोटे कणों को पकड़ने के लिए बहुत बड़े हैं। एजेंसी का बोलना है कि शोध में पाया गया है कि मास्क के नीचे दाढ़ी के बाल क्लीन शेव्ड चेहरों की तुलना में 20 से 1000 गुना अधिक लीकेज करते हैं। हालांकि, सीडीसी ने चेहरे के मास्क के लिए उपयुक्त 12 स्टाइल अच्छा मानी है, जिसमें क्लीन शेव, सोल पैच, साइड व्हिस्कर्स, पेंसिल, टूथब्रश, लैंपशेड, जोरो, पेंटर का ब्रश, शेवरॉन व हैंडलबार शामिल हैं। उनके मुताबिक मुंह के जितने करीब अधिक बाल होंगे, मास्क को फिट होने में उतनी कठिनाई होगी। अपनी दाढ़ी या चेहरे को बिना धुले हाथों से छूना एक चिंता का विषय होगा। हैंडवाशिंग व सतह से होने वाले कंटेमिनेशन से सावधान रहना जरूरी है।

इसमें भी संदेह नहीं कि दाढ़ी में थूक भी चिपक सकता है व इससे दूसरों में इंफेक्शन का खतरा भी बढ़ सकता है। myUpchar से जुड़े डाक्टर आयुष पांडे का बोलना है कि कोरोना वायरस इंफेक्शन की रोकथाम के लिए कोई विशेष दवा नहीं है। स्वच्छता व सावधानी बरतकर कोरोना वायरस के सम्पर्क में आने से बचा जा सकता है।