पौष पूर्णिमा 2021: इस दिन शुरू होगा कल्पवास, करें ये उपाय

पौष पूर्णिमा 2021: इस दिन शुरू होगा कल्पवास, करें ये उपाय

पौष माह  हिंदुओं के लिए पवित्र माह है। इस माह हर तिथि खास है। लेकिन में शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा का अलग महत्व है। इसको पौष पूर्णिमा कहते हैं। पौष पूर्णिमा को ही भगवती दुर्गा के शाकम्भरी स्वरूप को जन्म हुआ था। इसलिए इसे शाकम्भरी पूर्णिमा भी कहते हैं। इस साल यह पूर्णिमा 28 जनवरी 2021 को है। पूर्णिमा 28 जनवरी गुरुवार को 1.18 मिनट पर रात को लगेगी।

जीवन-मृत्यु के बंधनों से मुक्ति
पूर्णिमा तिथि 29 जनवरी को शुक्रवार की रात 12 बजकर 47 मिनट तक रहेगी। इस प्रकार पूर्णिमा के दिन स्नान-दान और सूर्य देव को जल देने से बहुत अधिक लाभ होता है। कहते हैं पौष पूर्णिमा पर स्नान-दान से व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस दिन से कल्पवास भी शुरू हो जाता है। कल्पवासी पौष पूर्णिमा से एक-दो दिन पहले आ जाते हैं और संगम किनारे की तपस्या शुरू करते हैं। माघ मेले का दूसरा स्नान पौष पूर्णिमा पर होगा। कल्पवासी माघ मेले के सभी प्रमुख स्नानों पर स्नान-दान करते हैं। माघी पूर्णिमा के दिन कल्पवास का समापन होता है। ऐसा कहा जाता है कि कल्पवासी यहां जीवन-मृत्यु के बंधनों से मुक्ति की कामना लेकर यहां आते हैं।

तिथि व मुहूर्त-
पूर्णिमा तिथि आरंभ- 28 जनवरी 2021 गुरुवार को 01 बजकर 18 मिनट से पूर्णिमा तिथि समाप्त- 29 जनवरी 2021 शुक्रवार की रात 12 बजकर 47 मिनट तक।

मंत्र जाप

पौष पूर्णिमा पर स्नान के बाद कुछ विशेष मंत्रों के जाप से कष्टों से मुक्ति पाई जा सकती है। इसके लिए निम्न मंत्रों का जाप किया जा सकता है ओउम आदित्याय नमः, ओउम सोम सोमाय नमः, ओउम नमो नीलकंठाय, ओउम नमो नारायणाय

इस तरह का उपाय,चमकेगा भाग्य
पूर्णिमा के दिन चन्द्रमा अपने पूर्ण आकार में होता है। यह दिन माँ लक्ष्मी को भी अत्यंत प्रिय है। पूर्णिमा के दिन ये खास उपाय करने से भाग्य चमकेगा।

चन्द्रमा मां का सूचक है और मन का कारक है। चंद्रमा कर्क राशि का स्वामी है। स्मरण शक्ति कमजोर हो जाती है। घर में पानी की कमी आ जाती है। मानसिक तनाव, मन में घबराहट, मन में तरह-तरह की शंका और सर्दी बनी रहती है। व्यक्ति के मन में आत्महत्या करने के विचार भी बार-बार आते रहते हैं। चन्द्रमा जैसे-जैसे कृष्ण पक्ष में छोटा व शुक्ल पक्ष में पूर्ण होता है वैसे-वैसे मनुष्य के मन पर भी चन्द्र का प्रभाव पड़ता है।

शास्त्रों में कहा गया है कि हर पूर्णिमा के दिन पीपल के वृक्ष पर मां लक्ष्मी का आगमन होता है।आप सुबह उठकर पीपल के पेड़ के सामने कुछ मीठा चढ़ाकर जल अर्पित करें।

मधुरता बनेगी
सफल दाम्पत्य जीवन के लिए प्रत्येक पूर्णिमा को पति-पत्नी में कोई भी चन्द्रमा को दूध का अर्ध्य अवश्य ही दें, इससे दाम्पत्य जीवन में मधुरता बनी रहती है।

जब चन्द्र से कोई भी शुभ ग्रह जैसे शुक्र, बृहस्पति और बुध दसवें भाव में हो तो व्यक्ति दीर्घायु, धनवान और परिवार सहित हर प्रकार से सुखी होता है। चन्द्र  से कोई भी ग्रह जब दूसरे या बारहवें भाव में न हो तो वह अशुभ होता है। 

जिस भी व्यक्ति को जीवन में धन सम्बन्धी समस्याओं का सामना करना पड़ता है उन्हें पूर्णिमा के दिन चंद्रोदय के समय चन्द्रमा को कच्चे दूध में चीनी और चावल मिलाकर “ॐ स्रां स्रीं स्रौं स: चन्द्रमासे नम:” अथवा ” ॐ ऐं क्लीं सोमाय नम:. ” मन्त्र का जप करते हुए अर्ध्य देना चाहिए। इससे धीरे धीरे उसकी आर्थिक समस्या खत्म होती है।

इत्र और सुगन्धित अगरबत्ती चढ़ाएं
हर पूर्णिमा के दिन मंदिर में जाकर लक्ष्मी को इत्र और सुगन्धित अगरबत्ती अर्पण करनी चाहिए। धन, सुख समृद्धि और ऐश्वर्य की देवी मां लक्ष्मी से अपने घर में स्थाई रूप से निवास करने की प्रार्थना करें।

अपने घर के मंदिर में धन लाभ के लिए श्री यंत्र, व्यापार वृद्धि यंत्र, कुबेर यंत्र, एकाक्षी नारियल, दक्षिणवर्ती शंख रखें। इनको साबुत अक्षत के ऊपर स्थापित करना चाहिए। पूर्णिमा की रात में 15 से 20 मिनट तक चन्द्रमा को लगातार देखें इससे नेत्रों की ज्योति तेज होती है।


धन की किल्लत से हो गए हैं परेशान तो इस तरह करें लक्ष्मी जी को प्रसन्न

धन की किल्लत से हो गए हैं परेशान तो इस तरह करें लक्ष्मी जी को प्रसन्न

हम सभी को पैसों की जरुरत होती है। एक अच्छा जीवन व्यतीत करने के लिए पर्याप्त मात्रा में धन होना बेहद जरूरी होता है। लेकिन ऐसा जरुरी नहीं कि हमेशा लक्ष्मी जी हम पर मेहरबान हों। यही कारण होता है कि लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के लिए कई तरह के प्रयास करते हैं। लेकिन कई बार काफी कोशिशों के बाद भी हम इसमें कामयाब नहीं हो पाते हैं। क्योंकि कई बार जाने-अनजाने में लक्ष्मी जी हमसे नाराज हो जाती हैं। इससे घर में दरिद्रता का वास होने लगता है। तो आइए जानते हैं इन गलतियों के बारे में।

1. गरुण पुराण के अनुसार, लक्ष्मी जी उन लोगों को त्याग देती हैं जो मैले कपड़ें पहनते हैं। ऐसे में हर दिन स्नान करना बेहद जरूरी होती है। ऐसा करने से मां महालक्ष्मी की कृपा व्यक्ति पर बनी रहती है।

2. कुछ लोग ऐसे होते हैं जो घर तो साफ करते हैं लेकिन बिस्तर को छोड़ देते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो आपको धन की किल्लत हो सकती है। इससे घर में दरिद्रता का वास होता है। घर में हमेशा बिस्तर को साफ रखना चाहिए।


3. झूठे बर्तनों को किसी भी समय ज्यादा देर तक बिना धोए नहीं छोड़ना चाहिए। इससे शनि का बुरा प्रभाव पड़ता है। इससे घर में दरिद्रता आती है। ऐसे में झूठे बर्तनों को हमेशा समय पर साफ कर देना चाहिए।

4. थाली में भोजन छोड़ना गलत होता है। शास्त्रों में इसे अन्न का अपमान कहा गया है। जहां अन्न का अपमान होता है वहां लक्षअमी का वास नहीं होता है। इससे घर में गरीबी बनी रहती है। ऐसे में कभी-भी थाली में भोजन नहीं छोड़ना चाहिए।


5. मां लक्ष्मी का प्रतीक झाड़ू को माना जाता है। ऐसे में शाम के समय झाड़ू नहीं लगानी चाहिए। अगर ऐसा किया जाता है तो घर में हमेशा धन की किल्लत बनी रहती है।

6. घर में सभी का सम्मान करना बेहद आवश्यक है। घर में चीखने का माहौल नहीं होना चाहिए। अगर घर का माहौल ऐसा हो घर में धन की किल्लत रहती है और दरिद्रता का वास होता है।


लुटेरों ने ट्रेन पर बोला धावा, 6 बोगियों में यात्रियों से की जमकर लूटपाट       देश पर नया खतरा! ये आतंकी संगठन चर्चा में...       मराठी भाषा दिवस कार्यक्रम में बिना मास्क के दिखे राज ठाकरे, बोले...       14 मार्च तक स्कूल-कॉलेज और कोचिंग बंद, पुणे में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार       केजरीवाल ने कहा कि अंग्रेजों ने किसानों पर इतने जुल्म नहीं किए, BJP ने उन्हें भी पीछे छोड़ दिया       Tiger 3: सलमान खान, कटरीना कैफ और इमरान हाशमी ने पूजा में लिया भाग       Alaya Furniturewalla रुमर्ड बॉयफ्रेंड ऐश्वर्य ठाकरे के साथ फिर आई नजर       जब सबके सामने आलिया भट्ट-रणबीर कपूर गलती से करने वाले थे लिप-लॉक       इस एक्टर के खिलाफ जारी हुआ नोटिस, फिल्म 'रुस्तम' से जुड़ा हुआ है मामला       इस एक्ट्रेस की हमशक्ल निकली पाकिस्तानी महिला आमना इमरान       कोरोना से संक्रमित गर्भवती महिलाओं को नहीं है स्टिलबर्थ या गर्भपात का ख़तरा अधिक       कमर की चर्बी कम करने के साथ ही पाचन भी दुरुस्त रखेगा कटिचक्रासन       इन गलतियों के चलते नहीं बढ़ते हैं आपके बाल, अपनाएं ये उपाय       इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ ही हड्डियों को मजबूत करता है नारियल       वज़न कंट्रोल करने से लेकर दिल की सेहत का भी ख़्याल रखता है गुलकंद       हफ्ते में कितनी बार वजन नापना सही होता है, जानें       तेजी से वज़न कम कर रहे हैं तो उसके साइड इफेक्ट भी जान लीजिए नहीं तो...       तनाव के लिए रामबाण दवा है पुदीना, इस तरह से करें इस्तेमाल       अस्थमा और हायपरटेंशन के मरीज रोजाना करें यह योगासन, जानें       प्रदूषण की वजह से बढ़ रही हैं फेफड़ों से जुड़ी बीमारियां