कुंडली या पितृ दोष से मिलेगी मुक्ति, अगर आज करेंगे ये काम

कुंडली या पितृ दोष से मिलेगी मुक्ति, अगर आज करेंगे ये काम

हिंदू धर्म में अमावस्या और पूर्णिमा जैसी तिथियों का बहुत महत्व है। इस दिन किया गया दान-पुण्य का सौ गुणा फल मिलता है।  आज यानि 13 जनवरी को पौष अमावस्या है।  पौष अमावस्या पौष माह कृष्ण पक्ष की अंतिम तिथि को होती है। धार्मिक और ज्योतिष की नजर ये तिथि महत्वपूर्ण मानी जाती है।

मान्यता है कि अमावस्या तिथि को व्यक्ति को बुरे कर्म और नकारात्मक विचारों से भी दूर रहना चाहिए। खासकर पौष अमावस्या सर्वसिद्धिदायक, सफलतादायक और पितरों को शांति करने वाली है। जानते हैं पौष अमावस्या के शुभ मुहूर्त, पूजा-विधि और इससे होने वाले लाभ के बारे में।

शुभ मुहूर्त
अमावस्या तिथि का प्रारंभ 12 जनवरी 2021, दोपहर 12:22 बजे, अमावस्या तिथि समाप्त 13 जनवरी 2021, सुबह 10:29 बजे।

 महत्व
धर्म शास्त्रों में इस दिन का महत्व बहुत ज्यादा है।इस दिन धार्मिक कार्य, स्नान, दान, पूजा-पाठ और मंत्र जप करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। इस दिन कई शुभ अनुष्ठान किए जाते हैं।

अमावस्या तिथि पर कई लोग अपने पितरों को प्रसन्न करने के लिए श्राद्ध कर्म करते हैं। इस दिन पितृ तर्पण, नदी स्नान और दान-पुण्य आदि करना ज्यादा फलदायी माना जाता है। यह तिथि पितृ दोष से मुक्ति दिलाने में सहायक मानी गई है।

पूजा विधि
पौष अमावस्या के दिन किसी नदी या तालाब में स्नान करना चाहिए। स्नान करने के बाद सबसे पहले तांबे के पात्र में शुद्ध जल से सूर्यदेव को अर्घ्य देना चाहिए। अर्घ्य में लाल पुष्य या लाल चंदन डालना उत्तम माना जाता है।

सूर्य देव को अर्घ्य देने के बाद पितरों को तर्पण देना चाहिए। मान्यता है कि पितृ दोष से पीड़ित लोगों को पौष अमावस्या के दिन पितरों के मोक्ष प्राप्ति के लिए व्रत रखना चाहिए। पौष अमावस्या के दिन गरीबों को भोजन कराने से भाग्य खुलता है।

माह का श्रेष्ठ दिन
विद्वानों के  अनुसार, अमावस्या तिथि को धार्मिक और आध्यात्मिक चिंतन-मनन के लिए यह माह श्रेष्ठ माना गया है। इस दिन सूर्य और चंद्रमा एक ही राशि में होते हैं।

कुंडली में चंद्र दोष
जिस तरह से अमावस्या तिथि को चंद्रमा किसी को दिखाई नहीं देता है और उसका प्रभाव क्षीण होता है। इसी तरह का प्रभाव इंसान के जीवन में भी रहता है। अमावस्या को जन्म लेने वाले की कुंडली में चंद्र दोष रहता है और उस व्यक्ति का चंद्रमा प्रभावशाली नहीं रहता है।

पितृ दोष की शांति  और लाभ 
पौष अमावस्या पर पितृ दोष की शांति कराने से भाग्योदय में आने वाली रूकावट दूर हो जाती है और भाग्योदय शीघ्र होता है। पितृ दोष के दूर होने से संतान की उत्पत्ति में आने वाली बाधा भी दूर हो जाती है। पितृ दोष दूर होने से व्यवसाय और नौकरी में आने वाली बाधा भी दूर हो जाती है।


बच्चों से कराएं कुछ क्रिएटिव, ऐसे सिखाएं ग्रीटिंग कार्ड्स बनाना

बच्चों से कराएं कुछ क्रिएटिव, ऐसे सिखाएं ग्रीटिंग कार्ड्स बनाना

गणतंत्र दिवस  हर साल 26 जनवरी को मनाते है। इसी दिन हमारा देश गणराज्य बना था। इस मौके पर पूरे देश झंडातोलन के साथ झांकियां निकाली जाती है। और हम सब एक दूसरें  के विश करते है। इस बार कोरोना के चलते गणतंत्र दिवस के मौके पर स्कूलों में ज्यादा एक्टिविटीज नहीं होंगी क्योंकि कोरोना का भय अभी गया नहीं है।

ज्यादातर बच्चे घर में रहकर ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं इसलिए बच्चों को इस दिन का महत्व बताने के लिए घर पर ही कुछ क्रिएटिव काम करवा सकते हैं। इस बार रिपब्लिक डे पर बच्चों को घर में क्राफ्ट एक्टिविटीज सिखाएं। इस बार गणतंत्र दिवस पर बच्चों को ग्रीटिंग कार्ड बनाना सिखाएं।और इसे देकर ही विश करने को बोले।

ऐसे बनाए कार्ड
सबसे पहले व्हाइट या ट्राई कलर में से किसी एक रंग की मीडियम आकार की शीट लें और उसे बीच में बराबर फोल्ड कर लें। बाहर हल्की पेटिंग करें और हाथ से गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं लिखें। कलरफुल शीट लें। इसे भी बीच में से फोल्ड करके बराबर आकार दें। अब ट्राई कलर की शीट को लेकर इसे बैलून शेप में काट लें।

पहली फोल्ड की शीट के अंदर देश भक्ति से जुड़ी कुछ पंक्तियां लिखें। अब धागा लेकर कटिंग किए बैलून जोड़ते जाएं। एक साइड पर ऑरेंज या अन्य मैचिंग कलर में एक पैच कटिंग करें जिस पर आप हैप्पी रिपब्लिक डे लिख दें। 

उसके बाद ग्लू की मदद से एक-एक बैलून शीट के बाहरी तरफ ऊपरी तरफ से जोड़ते जाएं और धागा नीचे छोड़ते जाएं। कटिंग किए पैच पर सारे धागे अटैच करें और पेंट को शीट के निचले हिस्से पर सैट करें जैसा तस्वीर में दिखाया गया है। ग्रीटिंग कार्ड तैयार है। इसे आप जानकारों को भेज सकते हैं।

अशोक चक्र बनाकर डेकोरेट करें
रिश्तेदार व दोस्तों को गणतंत्र दिवस के मौके पर घर के बने कार्ड भी भेज सकते हैं। इसके लिए एक व्हाइट सख्त पेपर को बीच में से फोल्ड करें। अब आगे ऊपर और नीचे वाले हिस्से को बराबर से संतरी और हरा कलर से पेंट करें। आप इसके ऊपर डिजाइनिंग पेपर काटकर भी लगा सकते हैं। सेंटर में अशोक च्रक बनाएं। अब इसे अपनी पसंद से डैकोरेट करें।

महत्व को समझाएं

इसके अलावा बच्चों को इतिहास के बारे में भी जानकारी दें। उन्हें बताएं कि 1950 में हमारे देश में सबसे पहला गणतंत्र दिवस मनाया गया था और डॉ. राजेन्द्र प्रसाद पहले राष्ट्रपति के तौर पर चुने गए थे। ऐतिहासित इमारतों के बारे में बताएं और उन्हें म्यूजियम के बारे में भी जानकारी दें।


केविन पीटरसन ने कहा कि इंग्लैंड अगर सर्वश्रेष्ठ टीम के साथ नहीं खेला, तो ये टीम इंडिया का अपमान होगा       भारत की जीत के बाद गावस्कर ने खास अंदाज में मनाया था जश्न, कहा...       अजिंक्य रहाणे की सफलता से विराट कोहली पर बढ़ा दबाव, दिग्गज बोले...       पाकिस्तान के खिलाड़ियों को बड़ी टीमों के खिलाफ कैसे खेलना है, बाबर आजम ने बताया       जो रूट ने श्रीलंका के खिलाफ शतक लगाकर बतौर कप्तान बनाया नया वर्ल्ड रिकॉर्ड, विराट, सचिन व फ्लेमिंग पीछे छूटे       अब आएगा इस स्पिनर का टाइम, ऑस्ट्रेलिया में नहीं खेल पाए एक भी मैच       इन दिग्गजों का नाम है शामिल, Ind vs Eng टेस्ट सीरीज के लिए कमेंट्री टीम का ऐलान!       इंग्लैंड के खिलाफ स्टेडियम में दिख सकते हैं दर्शक, लेकिन...       पाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ कराची टेस्ट के लिए टीम की घोषणा की, इतने अकैप्ड खिलाड़ियों को मिला मौका       शार्दुल ठाकुर को ब्रिसबेन टेस्ट के बाद मिला नया 'निकनेम', सचिन तेंदुलकर का नाम भी साथ जोड़ा गया       अगले वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा 5.5 फीसद तक सिमटने का अनुमान, कोरोना काल में सरकार के वित्तीय प्रबंधन का दिखेगा असर       निवेशकों के लिए टाइमिंग समझना होता है बड़ी उलझन, यह रणनीति आएगी काम       इलेक्ट्रिक कार उद्योग को बजट से बड़ी सौगात की उम्मीद, चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने में प्रोत्साहन की दरकार       अपने पिछले उच्च स्तर से 8,000 रुपये टूट चुका है सोना, चांदी भी 12,500 रुपये टूटी       इस महीने भी विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक बने हुए हैं शुद्ध खरीदार, अब तक कर चुके हैं 18,456 करोड़ रुपये का निवेश       बजट से पहले भी बाजार में आ सकती है अच्छी खासी गिरावट, जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट       Budget 2021: भारतीय कंपनियों ने Deloitte सर्वे में बताई बजट को लेकर अपनी उम्मीदें       कौन हैं नताशा दलाल को महेंदी लगाने वाली आर्टिस्ट वीना नगाड़ा, ईशा अंबानी और दीपिका को भी कर चुकी हैं तैयार       रिचा चड्ढा ने कहा कि जब तक लोकतंत्र है लोगों को मुखर होना चाहिए       Bigg Boss 14 : सोनाली फोगाट को खाने को लेकर निक्की, अर्शी और रुबीना से पड़ी जमकर डांट