उइगर मुस्लिमों के उत्पीड़न पर अमेरिका की चाइना को चेतावनी, उठायें ये कदम

उइगर मुस्लिमों के उत्पीड़न पर अमेरिका की चाइना को चेतावनी, उठायें  ये कदम

वॉशिंगटन: अमेरिका (America) ने चाइना (China) को झटका देते हुए उइगर मुसलमानों (Uighur Muslim) द्वारा बनाए जाने वाले उत्पादों के आयात पर रोक लगा दी है। ट्रंप प्रशासन ने यह कदम चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (CPC) की उइगर व अन्य अल्पसंख्यक विरोधी नीति के मद्देनजर उठाया है।

विदेश मंत्री माइक पोम्पियो (Mike Pompeo) ने बोला कि हम CPC द्वारा मानवाधिकारों का उल्लंघन कर अल्पसंख्यकों से जबरन कार्य (forced labour) करवाने की निंदा करते हैं। अमेरिका ऐसे उत्पादों का आयात नहीं करेगा, जो उसके मूल्यों के विरूद्ध हैं। चाइना में प्रताड़ित उइगर व अन्य अल्पसंख्यकों द्वारा निर्मित उत्पादों को अब अमेरिका में एंट्री नहीं मिलेगी।

दमनकारी नीतियों के खिलाफ 
उन्होंने आगे बोला कि अमेरिका चाइना की दमनकारी नीतियों के विरूद्ध खड़ा है। जिस तरह से चाइना में धार्मिक या जातीय अल्पसंख्यक समूहों का उत्पीड़न किया जा रहा है, उसे हम स्वीकार नहीं कर सकते। बीजिंग को चाहिए कि वो शिनजियांग प्रांत में अल्पसंख्यकों के साथ जारी बर्बरता पर तुरंत रोक लगाए।  

प्रतिबंधित सूची में डाला
यूएस कस्टम्स एंड बॉर्डर प्रोटेक्शन (US Customs and Border Protection) ने एक आदेश जारी करते हुए उत्तर-पश्चिमी चाइना में संचालित चार कंपनियों से सामान आयात करने पर रोक लगा दी है। अमेरिका को संदेह है कि इन कंपनियों में उइगर व अन्य अल्पसंख्यकों से जबरन श्रम कराया जाता है। शिनजियांग प्रांत की कपड़े व कॉटन के सामान, कंप्यूटर पार्ट्स व हेयर प्रोडक्ट्स बनाने वालीं कंपनियों को प्रतिबंधित कंपनियों की सूची में डाला गया है।

कई राष्ट्रों में भेजे जाते हैं
अमेरिका का मानना है कि इन कंपनियों में अल्पसंख्यकों को कैद करके उनसे जबरन कार्य करवाया जा रहा। कंपनियों द्वारा तैयार उत्पाद अमेरिका सहित कई अन्य राष्ट्रों में भेजे जाते हैं। यूएस कस्टम्स एंड बॉर्डर प्रोटेक्शन के कार्यवाहक आयुक्त मार्क मॉर्गन ने बोला कि जबरन श्रम न केवल मानवाधिकारों का उल्लंघन है, बल्कि यह मानवीय दृष्टिकोण के भी विरूद्ध है। हम ऐसे किसी उत्पाद को अपने देश में एंट्री नहीं दे सकते, जो लोगों को प्रताड़ित करके तैयार किये जाते हैं।

इन पर लगा बैन
होमलैंड सिक्योरिटी के कार्यवाहक उप सचिव केन क्यूकेनेली (Ken Cuccinelli) के मुताबिक, शिनजियांग प्रांत स्थित लोप काउंटी नंबर 4 वोकेशनल स्किल शिक्षा एंड ट्रेनिंग सेंटर में उइगर व अन्य अल्पसंख्यकों को कैद करके रखा गया है व उनसे जबरन श्रम कराया जाता है। जिन कंपनियों पर प्रतिबंध लगाया गया है उनमें Yili Zhuowan Garment Manufacturing Co, Ltd, Baoding LYSZD Trade and Business, Junggar Cotton & Linen Co व Hefei Bitland Information Technology शामिल हैं।