University व विदेशी विद्यार्थियों के दबाव में झुकी Trump Administration

University व विदेशी विद्यार्थियों के दबाव में झुकी Trump Administration

न्यूयॉर्क. अमरीका में विदेशी विद्यार्थियों का वीजा रद्द करने के मुद्दे में ट्रंप सरकार को यू-टर्न लेना पड़ा है. अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( Donald Trump ) यूनिवर्सिटी व विदेशी विद्यार्थियों के दबाव में पीछे हट गए हैं.

दरअसल, ट्रंप सरकार ने अमरीका में रहकर औनलाइन एजुकेशन हासिल करने वाले विदेशी विद्यार्थियों का वीजा रद्द करने के अपने निर्णय को वापस ले लिया है. मंगलवार को न्यायालय में ट्रंप प्रशासन इमिग्रेशन व कस्टम विभाग के एडवोकेट ने बोला कि अब इस सुनवाई कि आवश्यकता नहीं है, क्योंकि हम ये निर्णय वापस लेने के लिए तैयार हैं. अब जब ट्रंप सरकार ने अपना निर्णय वापस ले लिया है, तो इससे हजारों विदेशी विद्यार्थियों को राहत मिली है. इसमें सबसे अधिक भारतीय विद्यार्थी हैं.

कोर्ट में सुनवाई के दौरान जस्टिस एलीसन बरोज ने कहा, 'सरकार ने अपना पुराना निर्णय रद्द कर दिया है. साथ ही पुराने निर्णय पर चल रही कार्रवाई को तुरंत रोकने पर भी सहमति दे दी है.'

ट्रंप सरकार के निर्णय से 10 लाख विद्यार्थी होते प्रभावित

आपको बता दें कि ट्रंप प्रशासन ने पिछले सप्ताह आदेश दिया था कि जो विदेशी विद्यार्थी अमरीकन यूनिवर्सिटीज से औनलाइन शिक्षा हासिल कर रहे हैं, उन्हें वापस अपने देश जाना होगा. सरकार ने बताया था कि औनलाइन कोर्स के लिए अमरीका में रहकर पढ़ाई करने की कोई जरुरत नहीं है. लिहाजा सरकार ने फौरन विदेशी विद्यार्थियों का वीजा रद्द करने का आदेश जारी कर दिया.

हालांकि, सरकार के इस निर्णय को लेकर कई यूनिवर्सिटीज व विदेशी विद्यार्थियों ने विरोध करना प्रारम्भ कर दिया. जॉन हॉप्किन्स यूनिवर्सिटी, हार्वर्ड, एमआईटी (मैसाच्युसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी) यूनिवर्सिटीज ने बीते हफ्ते बुधवार को न्यायालय में सरकार के निर्णय के विरूद्ध याचिका दायर की थी.

भारतीय व चीनी विद्यार्थियों पर पड़ता सबसे अधिक असर

सरकार के निर्णय की वजह से 10 लाख स्टूडेंट्स पर प्रभाव पड़ने वाला था. इसमें सबसे अधिक असर भारतीय व चीनी विद्यार्थियों पर पड़ता. अमरीका में सबसे अधिक स्टूडेंट्स चाइना से आते हैं. इसके बाद भारतीय विद्यार्थियों का नंबर है. अमरीका ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन वाले स्टूडेंट्स के लिए F-1 व M-1 कैटेगरी के वीजा जारी करता है.

गौरतलब है कि 2019 में 2 लाख 2 हजार 14 भारतीय विद्यार्थी अमरीका गए थे, वहीं 2018 में 1 लाख 96 हजार 271 व 2017 में 1 लाख 86 हजार 267 विद्यार्थी अमरीका पढ़ने गए थे. लगातार 6 वर्ष से अमरीका में भारतीय विद्यार्थियों की संख्या बढ़ती जा रही है. 2018 के मुकाबले 2019 में 2.9% ज्यादा भारतीय विद्यार्थी अमरीका पहुंचे थे.