संयुक्त राष्ट्र ने दी चेतावनी, 49 मिलियन गरीबी में डूब सकता है कोरोना

संयुक्त राष्ट्र ने दी चेतावनी, 49 मिलियन गरीबी में डूब सकता है कोरोना

न्यूयॉर्क: लॉकडाउन दुनिया भर में कई बड़ी समस्याएं लाने जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि कोरोना के कारण इस वर्ष 49 मिलियन अधिक लोग अत्यधिक गरीबी में डूब सकते हैं। यही नहीं, वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में हर एक फीसदी की गिरावट का सबसे ज्यादा असर बच्चों पर पड़ेगा। दुनिया में अतिरिक्त 7 लाख बच्चों का विकास रुक जाएगा। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस का कहना है कि खाद्य और पोषण असुरक्षा बढ़ रही है। उन्होंने वैश्विक खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए देशों से तत्काल कदम उठाने का आह्वान किया।
82 करोड़ से ज्यादा लोग भूखे सोते हैं
खाद्य सुरक्षा पर एक नीति जारी करते हुए, उन्होंने मंगलवार को कहा कि दुनिया के 7.8 बिलियन लोगों को खिलाने के लिए पर्याप्त भोजन उपलब्ध था लेकिन वर्तमान में 820 मिलियन से अधिक लोग भूख से मर रहे थे। 5 वर्ष से कम आयु के लगभग 144 मिलियन बच्चे भी विकसित नहीं हो रहे हैं।