अमेरिका ने कोरोना संकट के बीच किया लेजर हथियार का परीक्षण

अमेरिका ने कोरोना संकट के बीच किया लेजर हथियार का परीक्षण

न्‍यूयॉर्क: अमेरिकी नौसेना के एक युद्धपोत ने एक नए हाई-एनर्जी लेजर हथियार का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है जो उड़ते हुए विमान को नष्‍ट करने की क्षमता रखता है। नौसेना ने शुक्रवार को एक बयान में बोला कि लेजर हथियार, जिसे वह डायरेक्‍टेड एनर्जी वेपंस (DEW) कहता है, यह ड्रोन या सशस्त्र छोटी नावों के विरूद्ध भी प्रभावी रूप से कार्य आ सकता है।

नौसेना के पैसिफिक फ्लीट द्वारा साझा की गई फोटो व वीडियो में एक डॉक शिप यूएसएस पोर्टलैंड को "हाई-एनर्जी क्लास सॉलिड-स्टेट लेजर का पहला सिस्टम-स्तरीय कार्यान्वयन" से हवाई ड्रोन विमान को नष्‍ट करते हुए दिखाया गया है। इस हथियार की शक्ति एक 150-किलोवाट लेजर होने की उम्मीद है। फोटो युद्धपोत के डेक से निकलने वाले लेजर को भी दिखाता है।

16 मई को हुआ था परीक्षण 
नौसेना ने अपने बयान में इस लेजर हथियार प्रणाली (LWSD) का परीक्षण कहां हुआ, इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है लेकिन यह बताया है कि परीक्षण 16 मई को प्रशांत महासागर में हुआ था। बता दें कि अमेरिकी नौसेना 1960 के बाद से लेज़रों को शामिल करने के लिए निर्देशित-ऊर्जा हथियार (DEW) विकसित कर रही है। DEWs को विद्युत चुम्बकीय प्रणालियों के रूप में परिभाषित किया गया है जो रासायनिक या विद्युत ऊर्जा को विकिरणित ऊर्जा में परिवर्तित करने व एक लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करने में सक्षम है, जिसके परिणामस्वरूप वह उसे नष्ट कर देती है।

बयान में बोला गया है, "LWSD की तरह नेवी के DEWs का विकास तत्काल युद्ध के लिए लाभदायी है व कमांडर के लिए डिसीजन स्‍पेस को बढाता है व रिएक्शन देने के लिए विकल्प भी प्रदान करता है। " नौसेना का बोलना है कि लेजर हथियार ड्रोन या सशस्त्र छोटी नावों के विरूद्ध खासा प्रभावी होने कि सम्भावना है।