अब अमेरिका में रहने के लिए हिंदुस्तानियों को चुकानी पड़ेगी कीमत

अब अमेरिका में रहने के लिए  हिंदुस्तानियों को चुकानी पड़ेगी कीमत

वाशिंगटन: हाल ही में अमेरिका में रहने के लिए अपनी चाह रखने वाले इंडियंस को अब एक अप्रैल से ईबी-5 या निवेशक वीजा के लिए अलावा 50 हजार डॉलर (लगभग 35 लाख रुपये) चुकाना जरूरी हो जाएगा। जंहा इस बात की जानकारी मीडिया रिपोर्ट्स से प्राप्त हुई है।

इस अलावा शुल्क का प्रभाव सभी श्रेणी के वीजा पर पड़ेगा: वहीं दैनिक अमेरिकन मार्केट ने बोला कि यद्यपि कि इस अलावा शुल्क का प्रभाव सभी श्रेणी के वीजा पर पड़ेगा, लेकिन ईबी-5 वीजा कार्यक्रम के लिए खासतौर पर यह रुकावट का कार्य करेगा।

अमेरिका में बसने के लिए न्यूनतम 9 लाख डॉलर का निवेश जरूरी: जंहा अमेरिका ने वर्ष 2019 में ईबी-5 निवेशक वीजा कार्यक्रम के लिए न्यूनतम निवेश की राशि को बढ़ाकर नौ लाख डॉलर (लगभग 6.3 करोड़ रुपये) कर दिया था। 1990 के बाद से यह पहली वृद्धि थी।

निवेश धनराशि के साथ ही अलावा 50 हजार डॉलर भी जमा करने होंगे: न्यूनतम निवेश में इस वृद्धि के साथ नवीन पांच फीसद अलावा शुल्क का मतलब है कि आवेदकों को अब अमेरिका में एस्क्रो एकाउंट में निवेश धनराशि के साथ ही अलावा 50 हजार डॉलर भी जमा करने होंगे। वहीं यह भी बोला जा रहा है कि हिंदुस्तानियों के लिए चेतावनी, अमेरिका में कदम रखने से पहले कर स्थिति की योजना बना लें दैनिक ने डेविस एंड एसोसिएट्स एलएलसी के ग्लोबल चेयरमैन मार्क डेविस के हवाले से बोला है कि भेजी गई रकम पर कर में परिवर्तन हिंदुस्तानियों के लिए यह चेतावनी है कि अमेरिका में कदम रखने से पहले वे सावधानीपूर्वक अपनी कर स्थिति की योजना बना लें।