संयुक्त राष्ट्र में भारत बोला- हम एक जिम्मेदार एटामिक पावर देश, गैर परमाणु हथियार वाले देशों पर नहीं करेंगे हमला

संयुक्त राष्ट्र में भारत बोला- हम एक जिम्मेदार एटामिक पावर देश, गैर परमाणु हथियार वाले देशों पर नहीं करेंगे हमला

संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन में भारतीय राजदूत पंकज शर्मा ने निशस्त्रीकरण पर कहा कि भारत एक जिम्मेदार परमाणु हथियार संपन्न देश है। भारत वैश्विक, बिना भेदभाव और विश्वसनीय परमाणु निशस्त्रीकरण के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। साथ ही वह न्यूनतम प्रतिरोधक क्षमता की अपनी नीति पर पूरी विश्वसनीयता के साथ कायम है। भारत पहले हमला नहीं करने की नीति और गैर परमाणु हथियार संपन्न देशों पर इसका इस्तेमाल नहीं करने की नीति पर कायम है।


संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र में भारतीय राजनयिक ने वैश्विक शांति व सुरक्षा के बहुआयामों का जिक्र किया और इसके प्रति उभरते खतरों का भी उल्लेख किया। इसमें सामूहिक विनाश के हथियारों से लेकर आतंकवाद और साइबर खतरे का भी जिक्र किया गया।

राजदूत शर्मा ने कहा कि भारत का प्रस्ताव है कि एक के बाद एक पूरी तरह से परमाणु हथियारों को खत्म किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस बात का जिक्र भारत ने वर्ष 2007 के निशस्त्रीकरण पर हुए सम्मेलन में भी किया है। उन्होंने एक समग्र परमाणु हथियार सम्मेलन कराने का भी आहान किया है। उन्होंने कहा कि भारत हमेशा इस मुद्दे के तीन अहम पहलुओं की ओर प्रतिबद्ध रहेगा। हम वरीयता के प्रति बिना किसी पूर्वाग्रह के परमाणु निशस्त्रीकरण से संबद्ध हैं। हम उम्मीद करते हैं कि ऐसे सम्मेलन से राजनीतिक इच्छाशक्ति भी बढ़ेगी।

भारतीय राजदूत शर्मा ने कहा कि भारत पहले इसका इस्तेमाल नहीं करने और किसी गैर परमाणु हथियार संपन्न देश के खिलाफ परमाणु हथियार का इस्तेमाल नहीं करने के अपने रुख में भी बदलाव लाने को तैयार है। वह अपने इस रुख को बहुआयामी कानूनी व्यवस्था में बदल सकता है। राजदूत शर्मा ने आगे कहा कि भारत रासायनिक हथियारों के सम्मेलन को उच्चस्तरीय महत्व देता है और इसे प्रभावशाली तरीके से अमल में लाना चाहता है। 


इमरान खान को लगा बड़ा झटका, नवाज शरीफ की पार्टी में शामिल हुए पीटीआइ के वरिष्ठ नेता

इमरान खान को लगा बड़ा झटका, नवाज शरीफ की पार्टी में शामिल हुए पीटीआइ के वरिष्ठ नेता

देश में बढ़ती महंगाई को लेकर विपक्ष की आलोचना झेल रहे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को एक और झटका लगा है। इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के वरिष्ठ नेता कादिर बख्श कलमती ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। स्थानीय मीडिया के अनुसार, कादिर पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) में शामिल हो गए हैं।

एआरवाइ न्यूज ने बताया कि कादिर ने हाल ही में पीटीआइ से मलिर जिला अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया और शनिवार को कराची के मलिर जिले में आयोजित एक जनसभा के दौरान पीएमएल-एन में शामिल हो गए। पार्टी के महासचिव अहसान इकबाल, पीएमएल-एन सिंध के महासचिव मिफ्ता इस्माइल, एमएनए खेल दास खोइस्तानी और पार्टी के अन्य नेताओं ने जनसभा में भाग लिया और रैली को संबोधित किया।


पीटीआइ से हाल ही में इस्तीफा देने वाले अध्यक्ष कादिर बख्श कलमती, वरिष्ठ नेता इनायत खट्टक और तारिक बलूच और अन्य पदाधिकारियों ने हलीम आदिल शेख पर पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित करने के लिए जानबूझकर पीएस-88 में एक कमजोर उम्मीदवार को मैदान में उतारने का आरोप लगाया था। पीएम-88 उपचुनाव में पीपीपी उम्मीदवार यूसुफ बलोच ने 24,000 से अधिक मतों से जीत हासिल की थी। इसमें पीटीआइ उम्मीदवार जंशेर जुनेजो और मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट-पाकिस्तान के उम्मीदवार साजिद अहमद को क्रमशः 4,870 और 2,634 वोट मिले थे।

इस कार्यक्रम में बोलते हुए पूर्व संघीय मंत्री अहसान इकबाल ने कहा, 'एमएलएन सुप्रीमो नवाज शरीफ का 'वोट को सम्मान दें' अभियान देश का सबसे लोकप्रिय नारा बन गया है और सभी चार प्रांतों में ये नारा गूंज रहा है। उन्होंने कहा कि अगर किसी समाज में व्यक्तियों की गरिमा को बहाल करना है तो वहां वोट का सम्मान किया जाना चाहिए। इससे पहले, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ लरकाना अध्याय के नेता चंगेज अब्रो ने भी पार्टी से इस्तीफा देकर पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) में शामिल हो गए थे।