डॉक्‍टर एंथनी फाउची ने कहा कि कोविड-19 महात्रासदी से जूझ रहा भारत, व्‍यापक टीकाकरण एकमात्र हल

डॉक्‍टर एंथनी फाउची ने कहा कि कोविड-19 महात्रासदी से जूझ रहा भारत, व्‍यापक टीकाकरण एकमात्र हल

अमेरिका के सबसे बड़े संक्रामक रोग जानकार डॉक्‍टर एंथनी फाउची ने बोला है कि हिंदुस्तान कोविड-19 वायरस महामारी के कहर से जूझ रहा है और दुनिया के अन्‍य राष्ट्रों को सहायता के लिए आगे आना चाहिए. फाउची ने बोला कि हिंदुस्तान अस्‍पताल के बिस्‍तरों, ऑक्‍सीजन की कमी, पीपीई किट और अन्‍य चिकित्‍सा उपकरणों की कमी से जूझ रहा है और अमेरिका जैसे राष्ट्रों की इसमें सहायता करनी चाहिए. उन्‍होंने बोला कि इस महासंकट से उबरने के लिए एकमात्र दीर्घकालिक तरीका बड़े पैमाने पर लोगों का टीकाकरण है.

डॉक्‍टर फाउची का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब शनिवार को आधिकारिक आंकड़े के अनुसार इस महामारी से 4 हजार लोगों की मृत्यु हो गई. उन्होंने इस खतरनाक महामारी से निपटने के लिए घरेलू एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कोविड-रोधी टीके के उत्पादन को बढ़ाने पर जोर दिया. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रमुख चिकित्सा सलाहकार फाउची ने एबीसी न्यूज को दिए इंटरव्यू में कहा, 'इस महामारी का पूरी तरह से खात्मा करने के लिए लोगों का टीकाकरण किया जाना चाहिए.'


'टीका निर्माण के लिए हिंदुस्तान को सहायता देनी चाहिए'
फाउची ने बोला कि हिंदुस्तान दुनिया का सबसे बड़ा टीका निर्माता देश है. उन्हें अपने संसाधन मिल रहे हैं, न केवल भीतर से, बल्कि बाहर से भी. उन्होंने कहा, 'यही कारण है कि अन्य राष्ट्रों को या तो हिंदुस्तान को उनके यहां टीका निर्माण के लिए सहायता देनी चाहिए अथवा टीके दान देने चाहिए.' डाक्टर फाउची ने एक प्रश्न के उत्तर में बोला कि हिंदुस्तान को तत्काल अस्थायी हॉस्पिटल बनाने की आवश्यकता है, जिस तरह करीब एक वर्ष पहले चाइना ने किया था.

उन्होंने कहा, 'आपको ऐसा करना ही होगा. आप हॉस्पिटल में बिस्‍तर नहीं होने पर लोगों को गलियों में नहीं छोड़ सकते. ऑक्सीजन के दशा बहुत गम्भीर हैं. मेरा मतलब है कि लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिल पाना वास्तव में दुखद है.' फाउची ने बोला कि तात्कालिक तौर पर हॉस्पिटल के बिस्तरों, ऑक्सीजन, पीपीई किट और अन्य चिकित्सा आपूर्ति की समस्या है. उन्होंने वायरस के प्रसार की रोकथाम के लिए देशव्यापी लॉकडाउन की आवश्यकता पर भी जोर दिया.


ट्रान्स अटलांटिक संबंधों के नवीनीकरण में यूरोपीय संघ के व्यापार युद्ध को समाप्त करने की हुई कोशिश

ट्रान्स अटलांटिक संबंधों के नवीनीकरण में यूरोपीय संघ के व्यापार युद्ध को समाप्त करने की हुई कोशिश

यूरोपीय संघ और संयुक्त राज्य अमेरिका ने आज ब्रसेल्स में एक शिखर सम्मेलन में अपने ट्रान्साटलांटिक विवादों को समाप्त करने की कोशिश करते हुए दोनों संघों के बीच मुक्त व्यापार समझौता स्थापित करने का प्रयास के लिए प्रतिबद्ध है। ईयू और यूएस ने मुक्त व्यापार समझौता यानि (टीटीआईपी) को विस्तारित करते हुए दोनों संघों ने कुछ मसौदा तैयार किया गया है। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार यह मसौदा सात पृष्ठ का है। जनवरी 2021 में डोनाल्ड ट्रम्प के बाद पदभार ग्रहण करते ही अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने यूरोपीय संघ के नेताओं के साथ ठोस परिणाम दिखाने का लक्ष्य रखा है। आज जो बाइडन वॉन डेर लेयेन और यूरोपीय संघ के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल से मिलेंगे, जो यूरोपीय संघ की सरकारों का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने 17 साल से चली आ रही विमान सब्सिडी विवाद को खत्म करने तथा स्टील और एल्मूनियम व्यापार विवाद से टैरिफ समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके अलावा यूरोपीय संघ के नेताओं से मिलकर ट्रम्प-युग के व्यापार युद्ध के मोर्चे को समाप्त करने की कोशिश करेंगे। बाइडन पूर्ववर्ती डोनाल्ड ट्रम्प के तहत चार साल के संबंधों को फिर से स्थापित करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। जिन्होंने यूरोपीय संघ पर शुल्क लगाया और ब्रिटेन को इससे दूर किया।

राष्ट्रपति जो बाइडन और ईयू ने आपसी सहमति से यूरोपीय संघ के शराब और अमेरिकी तंबाकू तथा स्पिरिट्स पर पांच साल के लिए 11.5 बिलियन डॉलर के सामान पर शुल्क हटाने की तैयारी है। अमेरिकी विमान निर्माता कंपनी बोइंग और यूरोपीय प्रतिद्वंद्वी एयरबस के लिए राज्य सब्सिडी को एक दूसरे के आधार पर अनुकूल रखा है। वही यूरोपीय आयोग के प्रमुख उर्सुला वॉन डेर लेयेन ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए बताया कि मैं बहुत सकारात्मक हूं, आज हम एयरबस-बोइंग मुद्दे पर एक समझौता करेंगे।

बाइडन ने सोमवार देर रात ब्रसेल्स में एक संवाददाता सम्मेलन में नाटो नेताओं से कहा कि अमेरिका वापस आ गया है। वही बाइडन ने रूस और चीन पर आरोप लगाते हुए कहा कि दोनों हमारी ट्रान्साटलांटिक एकजुटता में एक कील ठोकने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने रूस और चीन की सैन्य और आर्थिक वृद्धि के सामने पश्चिमी उदार लोकतंत्रों की रक्षा के लिए यूरोपीय संघ से समर्थन की मांग करने की बात कही।

राष्ट्रपति बाइडन और अमेरिकी विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकन ने पहले बेल्जियम के राजा फिलिप, प्रधान मंत्री अलेक्जेंडर डी क्रू और विदेश मंत्री सोफी विल्म्स से मुलाकात की। और बुधवार को जिनेवा में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात करेंगे।

शिखर सम्मेलन के मसौदे के अंतिम बयान में कहा गया है कि उनके पास "लोगों को जीवित रहने और उन्हें सुरक्षित रखने, जलवायु परिवर्तन से लड़ने और लोकतंत्र तथा मानवाधिकारों के लिए खड़े होने में मदद करने का एक मौका और जिम्मेदारी भी है"। हालांकि, मसौदा में जलवायु परिवर्तन पर कोई समझौता नहीं है। लेकिन दोनों पक्ष कोयले को जलाने को रोकने के लिए एक तिथि निर्धारित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

जहां ट्रम्प प्रशासन ने माल व्यापार में बढ़ते अमेरिकी घाटे को कम करने पर ध्यान केंद्रित किया। वही बाइडन यूरोपीय संघ को मुक्त व्यापार को बढ़ावा देने के साथ-साथ जलवायु परिवर्तन से लड़ने और कोविड महामारी को समाप्त करने में एक सहयोगी के तौर पर देखते हैं।

राष्ट्रपति बाइडन और अमेरिकी विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकन ने पहले बेल्जियम के राजा फिलिप, प्रधान मंत्री अलेक्जेंडर डी क्रू और विदेश मंत्री सोफी विल्म्स से मुलाकात की। और बुधवार को जिनेवा में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात करेंगे।


Sidharth Malhotra की तस्वीर पर अभिनेत्री कियारा आडवाणी ने किया रिएक्ट, लिखा...       टीएमसी एमपी-एक्ट्रेस नुसरत जहां ने प्रेग्नेंसी की ख़बरों के बाद पहली बार शेयर की फोटो, लिखा...       Shilpa Shetty के पति राज कुंद्रा ने शेयर किया ‘मनी हाइस्ट’ का पंजाबी वर्जन       Sridevi की बेटी जाह्नवी कपूर की बिकिनी तस्वीरें इंटरनेट पर हुईं वायरल       Salman Khan के साथ वीर की शूटिंग करते वक्त ऐसा हो गया था जरीन खान का हाल       विक्की कौशल, रणवीर सिंह या रणबीर कपूर? जानें       बुजुर्ग के साथ बदसलूकी की घटना पर स्वरा भास्कर को बोलना पड़ा भारी, ट्रोलर्स बोले...       विराट-अनुष्का के रास्ते पर बढ़े केएल राहुल और अथिया शेट्टी       पासपोर्ट रिन्यू न होने को लेकर महाराष्ट्र सरकार पर फूटा कंगना रनोट का गुस्सा       पासपोर्ट विवाद के बीच कंगना रनोट को आई फिल्म की याद, कहा...       Govinda ने पत्नी सुनीता आहूजा का खास अंदाज में मनाया 50वां जन्मदिन       Sonu Sood की बढ़ी मुश्किलें, कोरोना की दवाई को लेकर मुंबई उच्च न्यायालय ने दिए जांच के आदेश       Akshay Kumar और ट्विंकल खन्ना की शादी की 20 वर्ष बाद तस्वीरें हुईं लीक       Rakhi Sawant ने लगवाई कोरोना वैक्सीन की पहली डोजी       बेहतरीन एक्टर के साथ कामयाब बिज़नेसमैन, इतने करोड़ की संपत्ति के मालिक़ हैं डिस्को डांसर       म्यांमार के काया क्षेत्र में युद्ध विराम, संयुक्त राष्ट्र ने किया हस्तक्षेप, करीब एक लाख लोगों को पहुंचा था नुकसान       ट्रान्स अटलांटिक संबंधों के नवीनीकरण में यूरोपीय संघ के व्यापार युद्ध को समाप्त करने की हुई कोशिश       दुनियाभर में मशहूर फर्नीचर ब्रांड पर कोर्ट ने लगाया जुर्माना       अमेरिका व ईयू के बीच सालों पुराना व्यापारिक विवाद खत्म, पुतिन से मुलाकात से पहले बाइडन का पक्ष मजबूत!       मध्य नेपाल में बाढ़ के कहर से एक की मौत, कई लोगों के लापता होने की आशंका