पाक के लिए बड़ा झटका है ब्रिक्स देशों की आतंकवाद के खिलाफ गोलबंदी

पाक के लिए बड़ा झटका है ब्रिक्स देशों की आतंकवाद के खिलाफ गोलबंदी

नई दिल्ली। मंगलवार को हुई ब्रिक्स देशों की वर्चुअल शिखर बैठक में आतंकवाद के खिलाफ एक समग्र रणनीति बनाने पर सहमति बनी है। यह रणनीति आने वाले दिनों में आतंकवाद के समर्थन के मुद्दे पर पाकिस्तान को घेरने में एक बड़ा हथियार साबित हो सकती है। इसमें ब्रिक्स के पांचों सदस्य देशों (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) के बीच आतंकवाद के मसले पर एक दूसरे का समर्थन करने का वादा किया गया है।

यही नहीं संयुक्त राष्ट्र की अगुवाई में इस लड़ाई में आपसी सहयोग करने और एक दूसरे की संप्रभुता का आदर करने के साथ ही एक दूसरे के आतंरिक मामले में दखल नहीं देने की बात कही गई है। ऐसे में सवाल यही है कि ब्रिक्स के मंच से आतंकवाद के खिलाफ चीन क्या अपने मित्र राष्ट्र पाकिस्तान का पक्ष लेगा या उसकी आतंकियों को शह देने वाली हरकतों पर नकेल कसेगा?

ब्रिक्स देशों की उक्त रणनीति के 11 उद्देश्य बताए गए हैं। इसमें कहा गया है कि सभी देश अपनी जमीन का इस्तेमाल आतंकवादी संगठनों को संगठित करने, उन्हें प्रशिक्षित करने या उन्हें वित्‍तीय आदि किसी भी तरह की सुविधा देने के लिए काम नहीं करेंगे। साथ ही सभी देश यह सुनिश्चित करेंगे कि उनकी जमीन या नागरिकों का इस्तेमाल किसी दूसरे देश में आतंकी घटनाओं के लिए नहीं हो।

यही नहीं सभी देश इस तरह की घटनाओं में शामिल देशों की मदद भी नहीं करेंगे और राजनीतिक उद्देश्यों से आतंकवाद का समर्थन करने वाले देशों के खिलाफ एकजुट होंगे। एक अन्य महत्वपूर्ण उद्धेश्य यह है कि आतंकवाद का राजनीतिक हितों के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। ब्रिक्स देशों के बीच यह भी सहमति बनी है कि वे आतंकवाद का इस्तेमाल करने वाले देशों के खिलाफ एकजुट होंगे और उसे ऐसा करने से रोकने की रणनीति बनाएंगे।

सूत्रों का कहना है कि ब्रिक्स देशों की ओर से बनाए गए नए एजेंडे में ऐसी बहुत सारी बातें हैं जो पाकिस्तान समर्थित आतंकवाद के खिलाफ भारत और चीन के बीच सहयोग की राह खोल सकता है। हालांकि देखना यह होगा कि चीन इसको लेकर कितनी गंभीरता दिखाता है। इससे पहले जैश सरगना मसूद अजहर पर संयुक्त राष्ट्र का प्रतिबंध लगाने जैसे मसले पर चीन ने भारत के प्रस्तावों का लंबे समय तक विरोध किया था।

बहरहाल, अब यदि चीन इस तरह का कोई कदम उठाता है तो भारत के पास ब्रिक्स समझौते के तहत उसे याद दिलाने का एक और विकल्प होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा था कि अगले साल के दौरान बतौर ब्रिक्स अध्यक्ष भारत आतंकवाद के खिलाफ स्वीकृत रणनीति को और मजबूत बनाने की कोशिश करेगा। यानी यदि चीन अड़ंगा नहीं लगाता है तो पाकिस्‍तान में बैठे आतंकी संगठनों पर लगाम लगनी तय है।


इस वजह के चलते China की तरफ से इस ऑस्ट्रेलियाई Journalist को मिल रही धमकियां

इस वजह के चलते China की तरफ से इस ऑस्ट्रेलियाई Journalist को मिल रही धमकियां

सिडनी: ऑस्ट्रेलिया (Australia) के एक पत्रकार (Journalist) को चाइना (China) के खानपान पर प्रश्न उठाना बहुत ज्यादा महंगा पड़ा है चाइना की तरफ से पत्रकार को धमकी मिल रही है सोशल मीडिया पर पत्रकार की बहन के दुष्कर्म की धमकी दी गई है पत्रकार बैंग जिओ (Bang Xiao) एबीसी न्यूज चैनल में कार्य करते हैं उन्होंने अपने ट्विटर एकाउंट पर धमकी वाला पोस्ट शेयर करते हुए सहायता की गुहार लगाई है

मेरी सहायता करें
बैंग ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘सुबह से मुझे और मेरे परिवार को निशाना बनाने की बातें कहीं जा रही हैं इस तरह के ट्वीट को रिपोर्ट करने में मेरी सहायता करें’ पत्रकार ने ऐसे दो ट्वीट के स्क्रीनशॉट शेयर किये हैं, जिसमें उनकी बहन और मां से दुष्कर्म की धमकी दी गई है  

पसंद नहीं आई स्टोरी
ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार ने मंगलवार को अपनी एक स्टोरी पोस्ट की थी, जिसमें चाइना के खानपान पर प्रश्न खड़े किये गए थे स्टोरी में बताया गया था कि किस तरह चाइना के लोग चूहे से लेकर कॉकोरोच तक का सेवन करते हैं बैंग की यह स्टोरी ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले कथित राष्ट्रवादी चीनी नागरिकों को नागवार गुजरी सोशल मीडिया पर इसके बायकॉट की मुहिम भी चलाई गई इसी बीच, कुछ लोगों ने पत्रकार को धमकी देना प्रारम्भ कर दिया

संस्कृति को नुकसान होगा
हालांकि, ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले कुछ चीनी नागरिकों का बोलना है कि स्टोरी में कुछ भी गलत नहीं है, लेकिन इस तरह के चित्रण से भविष्य में चीनी संस्कृति को नुकसान पहुंच सकता है बताते चलें कि चाइना में आम जनता के साथ ही पत्रकारों को भी सरकार या देश के विरूद्ध कुछ भी लिखने-बोलने की आजादी नहीं है अब चाइना चाहता है कि दूसरे राष्ट्रों में भी उसके विरूद्ध कोई बात न हो, इसलिए उसने बैंग जिओ को धमकी देकर यह स्पष्ट करने का कोशिश किया है   


Pakistan में बलात्कारियों को मिलेगी अब यह सजा       इस वजह के चलते China की तरफ से इस ऑस्ट्रेलियाई Journalist को मिल रही धमकियां       आज तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से टकराएगा चक्रवाती तूफान 'निवार'       कोविड-19 मामलों की संख्या 92 लाख के पार, 7वें नंबर पर हिंदुस्तान       नगर निगम की इस लापरवाही से 8 वर्ष में भी नहीं बन पाया स्वीमिंग पूल       कारागार से विधानसभा वोट देने पहुंचे बाहुबली अनंत सिंह       आदिवासियों के जबरन धर्म बदलाव पर कठोर हुए मुख्यमंत्री शिवराज       यूपी में स्मार्ट मीटर कंज़्यूमर ओं से लिखित फीडबैक लेंगे बिजलीकर्मी       गोल्ड स्मगलिंग के आरोप में दो लोग गिरफ्तार       Rajasthan: आबकारी विभाग का सिपाही लापता       सोने की कीमतें 54 रुपए गिरकर 48,531 रुपए प्रति 10 ग्राम तक पहुंची       3 दिसंबर को लॉन्च होगा दो सेल्फी कैमरे वाला इंफिनिक्स जीरो 8i, जानिए कीमत       Flipkart पर प्रारम्भ हो रही है Black Friday सेल, मिलेगा बम्पर डिस्काउंट       6000mAh बैटरी के साथ बजट मूल्य में लॉन्च हुआ Poco M3       1 जनवरी से मोबाइल नंबर में बिना ‘0’ लगाए नहीं हो पाएगी बात       पिता की मृत्यु के गम में डूबे सिराज, कोहली ने ऐसे बढ़ाया हौसला       इस क्रिकेटर को किया गया प्लेयर्स ऑफ डेकेड अवार्ड के लिए नामित       IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया के विरूद्ध नयी जर्सी में दिखेंगे टीम इंडिया के खिलाड़ी       आस्ट्रेलिया के विरूद्ध दो टेस्ट मैच नहीं खेल सकेंगे इशांत और रोहित       चेन्नईयिन एफसी ने जमशेदपुर एफसी को 2-1 से हराया, अनिरुद्ध थापा ने किया रिकॉर्ड गोल