G-20 देश कोरोना वायरस से अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए 5 ट्रिलियन डॉलर की देंगे मदद

G-20 देश कोरोना वायरस से अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए 5 ट्रिलियन डॉलर की देंगे मदद

रियाद. दुनियाभर में कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन की स्थिति है. इसके कारण कई राष्ट्रों की अर्थव्यवस्था चौपट हो रही है. सऊदी अरब की अध्यक्षता में हो रही G-20 राष्ट्रों की वर्चुअल मीटिंग में एक बड़ा निर्णय लिया गया है. संक्रमण से निपटने व अर्थव्यवस्था को हो रहे नुकसान में मदद के लिए 5 ट्रिलियन डॉलर लगाने का निर्णय किया गया है.

दुनिया के 19 राष्ट्रों व यूरोपीय संघ के नेताओं की यह मीटिंग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई. जिसमें हिंदुस्तान से प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी भाग लिया. अब तक संसार में कोरोना वायरस के कारण 24 हजार से ज्यादा लोगों की मृत्यु हो चुकी है.

अर्थव्यवस्था में सुधार की कोशिश

इस मीटिंग के दौरान नेताओं ने बोला कि दुनिया की अग्रणी अर्थव्यवस्थाएं कोरोना वायरस की महामारी से उबरने के लिए हरसंभव कोशिश करेंगी. उन्होंने बोला है कि स्वास्थ्य, समाज व अर्थव्यवस्था पर होने वाले इसके प्रभाव से निपटना अहमियत होगी.

किसी पर आरोप मढ़ने की प्रयास नहीं

इस दौरान नेता हेल्थ व महामारी के फैलने से जुड़े डेटा को शेयर करेंगे. इससे दुनियाभर में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार हो सकेगा. मेडिकल सप्लाई व उत्पादन की क्षमता को बढ़ाया जा सके. वायरस कहां से पैदा हुआ, इसे लेकर कोई चर्चा नहीं की गई. इस बात पर खास चर्चा की गई कि मौजूदा आपदा से किस तरह से निपटा जाए. वायरस के फैलने के लिए किसी पर आरोप मढ़ने की कोई प्रयास नहीं की गई. बताते चलें कि चाइना को इस बात के लिए आलोचना का शिकार होना पड़ रहा है कि यह खतरनाक वायरस उसकी जमीन से आया है.

24 हजार से ज्यादा की मौत

यह वर्चुअल मीटिंग बीते सप्ताह सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्‍मद बिन सलमान व प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच फोन पर हुई वार्ता के बाद हो रही है. पूरी संसार में अब तक पांच लाख से अधिक इस खतरनाक वायरस की चपेट में आ चुके हैं. वहीं 24 हजार से अधिक मौतें हो चुकी है. सबसे ज्यादा बेकार दशा इटली के हैं. यहां पर मरने वालों की संख्या चाइना से भी कहीं ज्यादा 8 हजार के पार हो गई है.