बेरूत में जज को हटाने की मांग में हो रहे प्रदर्शन के दौरान हुए संघर्ष में चार लोगों की मौत

बेरूत में जज को हटाने की मांग में हो रहे प्रदर्शन के दौरान हुए संघर्ष में चार लोगों की मौत

लेबनान की राजधानी बेरूत में गुरुवार को शहर के एक बंदरगाह पर पिछले साल हुए बम धमाके की जांच कर रहे जज को हटाने की मांग कर रहे चरमपंथी संगठन हिज्बुल्लाह के समर्थकों व सैनिकों में संघर्ष हो गया। दोनों ओर से पिस्तौल व राइफल आदि घातक हथियारों से हुई गोलीबारी में चार लोगों की मौत हो गई, जबकि कई घायल हो गए। संघर्ष में ग्रेनेड का भी इस्तेमाल हुआ।

बम धमाके की जांच करने वाले जज को हटाने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों व सेना में गोलीबारी

एक अधिकारी ने मीडिया को बताया कि स्नाइपर इमारतों में छिपकर गोलियां दाग रहे थे। एक फ्रेंच स्कूल के पास चार गोले आ गिरे। इससे भयभीत छात्र स्कूल के केंद्रीय हाल में छिप गए और अपनी खिड़कियों खुला छोड़ दिया, ताकि कम से कम नुकसान हो। इस घटना ने वर्ष 1975-90 के दौरान चले गृहयुद्ध की याद दिला दी। प्रधानमंत्री नजीब मिकाती ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। पूरे इलाके में बड़ी संख्या में लेबनानी सैनिकों को तैनात कर दिया गया है।


उल्लेखनीय है कि चार अगस्त, 2020 को बेरूत के एक बंदरगाह के गोदाम में हुए धमाके में कम से कम 215 लोग मारे गए थे। घटना की जांच जज तारीक बिटार कर रहे हैं। हिज्बुल्लाह के समर्थक जज पर पक्षपात का आरोप लगाते हुए उन्हें हटाने की मांग कर रहे हैं।


इमरान खान को लगा बड़ा झटका, नवाज शरीफ की पार्टी में शामिल हुए पीटीआइ के वरिष्ठ नेता

इमरान खान को लगा बड़ा झटका, नवाज शरीफ की पार्टी में शामिल हुए पीटीआइ के वरिष्ठ नेता

देश में बढ़ती महंगाई को लेकर विपक्ष की आलोचना झेल रहे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को एक और झटका लगा है। इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के वरिष्ठ नेता कादिर बख्श कलमती ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। स्थानीय मीडिया के अनुसार, कादिर पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) में शामिल हो गए हैं।

एआरवाइ न्यूज ने बताया कि कादिर ने हाल ही में पीटीआइ से मलिर जिला अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया और शनिवार को कराची के मलिर जिले में आयोजित एक जनसभा के दौरान पीएमएल-एन में शामिल हो गए। पार्टी के महासचिव अहसान इकबाल, पीएमएल-एन सिंध के महासचिव मिफ्ता इस्माइल, एमएनए खेल दास खोइस्तानी और पार्टी के अन्य नेताओं ने जनसभा में भाग लिया और रैली को संबोधित किया।


पीटीआइ से हाल ही में इस्तीफा देने वाले अध्यक्ष कादिर बख्श कलमती, वरिष्ठ नेता इनायत खट्टक और तारिक बलूच और अन्य पदाधिकारियों ने हलीम आदिल शेख पर पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित करने के लिए जानबूझकर पीएस-88 में एक कमजोर उम्मीदवार को मैदान में उतारने का आरोप लगाया था। पीएम-88 उपचुनाव में पीपीपी उम्मीदवार यूसुफ बलोच ने 24,000 से अधिक मतों से जीत हासिल की थी। इसमें पीटीआइ उम्मीदवार जंशेर जुनेजो और मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट-पाकिस्तान के उम्मीदवार साजिद अहमद को क्रमशः 4,870 और 2,634 वोट मिले थे।

इस कार्यक्रम में बोलते हुए पूर्व संघीय मंत्री अहसान इकबाल ने कहा, 'एमएलएन सुप्रीमो नवाज शरीफ का 'वोट को सम्मान दें' अभियान देश का सबसे लोकप्रिय नारा बन गया है और सभी चार प्रांतों में ये नारा गूंज रहा है। उन्होंने कहा कि अगर किसी समाज में व्यक्तियों की गरिमा को बहाल करना है तो वहां वोट का सम्मान किया जाना चाहिए। इससे पहले, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ लरकाना अध्याय के नेता चंगेज अब्रो ने भी पार्टी से इस्तीफा देकर पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) में शामिल हो गए थे।