अफ्रीका के कोरोना ने दी फिर दस्तक

अफ्रीका के कोरोना ने दी फिर दस्तक

महाद्वीपीय रोग नियंत्रण और रोकथाम एजेंसी के बयान में बोला गया है कि महामारी से संबंधित मौत शनिवार दोपहर तक अफ्रीका में 49,099 थी. महाद्वीपीय रोग नियंत्रण और रोकथाम एजेंसी के मुताबिक अफ्रीकी महाद्वीप ने अब तक कोविड -19 से संक्रमित 1,728,682 लोगों की वसूली की सूचना दी है.

सबसे अधिक Covid-19 प्रभावित अफ्रीकी राष्ट्रों में दक्षिण अफ्रीका, मोरक्को, मिस्र और इथियोपिया शामिल हैं, अफ्रीका सीडीसी शो के आंकड़े. पुष्टि किए गए सकारात्मक मामलों की संख्या और सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र दक्षिण अफ्रीका में मौतों की संख्या के संदर्भ में. इसके बाद उत्तरी अफ्रीका है. अफ्रीकी संघ (एयू) आयोग ने शुक्रवार को जोर देकर बोला कि Covid-19 महामारी के विरूद्ध अफ्रीका की लड़ाई "दूर से दूर है." पैन अफ्रीकी ब्लॉक के अनुसार, अफ्रीकी महाद्वीप में अन्य महाद्वीपों की तुलना में सकारात्मक मामलों और मौतों की संख्या कम दर्ज की गई है, महामारी का असर "महाद्वीप पर बहुत अधिक है, पहले से ही गम्भीर स्वास्थ्य प्रणाली पर तीव्र दबाव और सामाजिक आर्थिक स्थिति पर प्रतिकूल असर डाल रहा है."

फरवरी के महीने में, अफ्रीकी सीडीसी ने Covid-19 महामारी रिएक्शन की दिशा में रणनीति विकसित की जिसका उद्देश्य गंभीर रोग और मौत को रोकते हुए सहयोग, सहयोग, समन्वय और संचार को बढ़ाना और महामारी के कारण सामाजिक व्यवधान और आर्थिक परिणामों को कम करना है. जून 2020 में, अफ्रीका सीडीसी ने पार्टनरशिप टू एक्सीलरेट Covid-19 टेस्टिंग (PACT) का गठन किया है. यह एक पहल है जो पूरे महाद्वीप में Covid-19 मामलों के परीक्षण, सम्पर्क अनुरेखण और इलाज के विस्तार के लिए एक सामूहिक के रूप में भागीदारों को एक साथ आने के लिए सक्षम बनाता है.


महात्मा गांधी के पड़पोते की कोविड-19 से मौत

महात्मा गांधी के पड़पोते की कोविड-19 से मौत

कोविड-19 वायरस महामारी हिंदुस्तान सहित दुनिया के कई राष्ट्रों में अपना कहर बरपा रही है. ये वायरस कई बड़ी नामी शख़्सियतों को अपनी चपेट में ले चुका है. इसमें सबसे ताजा नाम महात्मा गांधी के पड़पोते सतीश धुपेलिया का है. दक्षिण अफ्रीका मूल के धुपेलिया का Covid-19 के कारण रविवार को मृत्यु हो गया. वो 66 वर्ष के थे और तीन दिन पहले ही उनका जन्मदिन था. धुपेलिया के मृत्यु की जानकारी उनके परिवार ने दी.

सतीश धुपेलिया की बहन उमा धुपेलिया-मेस्थरी ने पुष्टि की उनके भाई का मृत्यु कोविड-19 वायरस संबंधित जटिलताओं के चलते हुआ. बकौल उमा भाई को निमोनिया हो गया था और उसके इलाज के लिए वह एक हॉस्पिटल में थे. वहीं वो कोविड-19 संक्रमण की चपेट में आ गए.

उन्होंने सोशल मीडिया पोस्ट में कहा, ‘निमोनिया से एक महीने पीड़ित रहने के बाद मेरे प्यारे भाई का मृत्यु हो गया. हॉस्पिटल में उपचार के दौरान वह Covid-19 की चपेट में आ गए थे. आज (रविवार) शाम उन्हें दिल का दौरा पड़ा.’ उनके परिवार में दो बहने उमा और कीर्ति मेनन हैं, जो यहीं रहती हैं. ये तीनों भाई बहन मणिलाल गांधी के वारिस हैं, जिन्हें महात्मा गांधी अपने कार्यों को पूरा करने के लिए दक्षिण अफ्रीका में ही छोड़ कर हिंदुस्तान लौट आए थे.

उल्लेखनीय है कि अपना अधिकतर जीनव में मीडिया में बिताने वाले धुपेलिया पेशे से एक वीडियोग्राफर और फोटोग्राफर थे. वो सभी समुदायों में जरुरतमंदों की सहायता करने के लिए हमेशा आगे रहते थे और कई सामाजिक और कल्याणकारी संगठनों से जुड़े हुए थे. गांधी के पड़पोते के मृत्यु पर उन्हें दोस्तों और करीबियों ने श्रद्धांजलि दी.

पॉलिटिकन एनालिस्ट लुबना नदवी ने बोला कि उनकी मृत्यु की समाचार सुनकर मैं सकते में हूं. वो एक महान मानवतावादी और सक्रिय िस्ट थे. उन्होंने बोला कि वो अच्छे दोस्त थे और हमेशा संगठन की सहायता करते थे.

बता दें पूरे विश्व में Covid-19 के 5.89 करोड़ मामलों की पुष्टि हो चुकी है. इनमें अभी तक 13.93 लाख लोगों की मृत्यु हो चुकी है और चार करोड़ से अधिक लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं. कोविड-19 से अमेरिका, हिंदुस्तान और ब्राजील सबसे अधिक प्रभावित हैं. इन तीनों राष्ट्रों में करीब चार करोड़ लोगों को कोविड-19 हो चुका है और लाखों लोगों की मृत्यु हो चुकी है.


सीएम केजरीवाल ने जारी किया आदेश, Corona अस्पतालों में तैनात होंगे MBBS छात्र       कोरोना के बढ़ते मुद्दे पर उच्चतम न्यायालय ने दिल्ली, महाराष्ट्र, असम और गुजरात सरकार को फटकारा       इस वजह के चलते Lucknow-Delhi के बीच चलने वाली Tejas Express आज से बंद       India की हर्ड इम्युनिटी से Covid-19 हो रहा पस्त       सबसे लंबे समय तक असम के मुख्यमंत्री रहे तरुण गोगोई का 84 वर्ष की आयु में मृत्यु       अमरीकी दवा कंपनी ने कोविड-19 वैक्सीन के प्रयोग की मांगी इजाजत       महात्मा गांधी के पड़पोते की कोविड-19 से मौत       अमेरिका से अच्छे रिश्तों की आस में Taiwan ने उठाया यह कदम       Joe Biden को Vladimir Putin अभी भी नहीं मानते अमेरिकी राष्ट्रपति       अपने भतीजे की इस समाचार से टेंशन में है उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन       AstraZeneca ने Covid-19 संकट के बीच डोज को लेकर किया ये बड़ा दावा       NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े पर हमला       भिवंडी से लापता 3 युवकों की मिली लाश, पुलिस को आत्महत्या का शक       भाजपा नेता जुल्फिकार कुरैशी की सरेआम गोली मारकर हत्या       Jhalawar: बलात्कार के आरोपी व्यक्ति ने फांसी लगाकर दी जान       डकैती की योजना बनाते दो स्त्रियों सहित सात लोग गिरफ्तार       भारतीय स्टेट बैंक में है खाता तो बैंक ने दी ये अहम जानकारी       अगले वर्ष मई में लॉन्च हो सकता है LG Stylo 7, लीक हुई डिज़ाइन       इतना सस्ता हुआ Oppo का ट्रिपल कैमरा, आज ही करे ऑर्डर       आरबीआई के एक सुझाव से इस बैंक ने मचाई शेयर मार्केट में धूम