CCP के पूर्व नेता के बेटे का दावा, लद्दाख झड़प में मारे गए थे 100 से अधिक चीनी सैनिक

CCP के पूर्व नेता के बेटे का दावा, लद्दाख झड़प में मारे गए थे 100 से अधिक चीनी सैनिक

बीजिंग: लद्दाख की गलवन घाटी में भारतीय जवानों के साथ उलझना चाइना की कम्युनिस्ट सरकार के लिए बहुत ज्यादा भारी पड़ रहा है. इस खुनी प्रयत्न में दोनों पक्षों को नुकसान पहुंचा है. कर्नल संतोष बाबू सहित इंडियन आर्मी के 20 जवान शहादत को प्राप्त हुए हैं. हिंदुस्तान ने इसकी पुष्टि की व सारे देश ने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की, वहीं चाइना ने अभी तक अपनें मृत सैनिकों का आंकड़ा सार्वजनिक नहीं किया है.

चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी (CCP) के एक पूर्व नेता के बेटे यांग जिनाली ने दावा किया है कि गलवान घाटी में भारतीय सेना के हाथों 100 से अधिक चीनी सैनिक मारे गए हैं, किन्तु चाइना सरकार जानबूझकर आंकड़ा नहीं जारी कर रही है. यांग ने बोला कि यदि सैनिकों के बारे मेंबताया तो चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग के लिए ही मुश्किलें खड़ी हो जाएंगी व पार्टी में विद्रोह हो जाएगा.

जियानली ने लिखा है कि बहुत ज्यादा समय से पीएलए चाइना की सत्ता का मुख्य अंग रहा है. यदि देश की सेवा में कार्यरत पीएलए कैडर की भावनाएं आहत होती हैं तो ये सेवानिवृत्त सैनिकों के साथ मिलकर देश की सरकार के विरूद्ध मोर्चाबंदी करेगा. वाशिंगटन पोस्ट में प्रकाशित आर्टिक्ल में बोला गया है कि बीजिंग को डर है कि यदि वह यह मान लेता है कि हिंदुस्तान से अधिक उसके अपने सैनिक मारे गए थे तो देश में अशांति फैल सकती है व सीसीपी की सत्ता भी कठिन में आ सकती है.