अमरीका व चाइना के बीच तनाव चरम पर, चाइना ने चेताया, कहा-चीन के पत्रकारों को निशाना बनाया तो मिलेगा करारा जवाब

अमरीका व चाइना के बीच तनाव चरम पर, चाइना ने चेताया, कहा-चीन के पत्रकारों को निशाना बनाया तो मिलेगा करारा जवाब

बीजिंग. अमरीका (America) व चाइना के बीच तनाव चरम पर पहुंच चुका है. चाइना (China) ने चेताया है कि अगर अमरीका में रह रहे उसके पत्रकारों को निशाना बनाया जाता है तो वह इसका करारा जवाब देगा. हांगकांग में अमरीकी पत्रकारों को इसके लिए निशाना बनाया जा सकता है.

ग्लोबल टाइम्स (Global Times) के एडिटर इन चाइना हू शिजिन ने अपने ट्विटर एकाउंट पर लिखा कि अमरीका चीनी पत्रकारों के वीजा को आगे नहीं बढ़ा रहा है. ऐसे में उन्हें अमरीका को छोड़ने पर विवश किया जा रहा है. अगर ऐसा रहा तो चाइना भी इसका जवाब देगा व अमरीकी पत्रकारों को निशाना बनाया जाएगा.

ग्लोबल टाइम्स अखबार पीपुल्स डेली, चाइना की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी (Communist Party) का आधिकारिक अखबार है. अमरीका ने देश में चीनी पत्रकारों के लिए वीजा को 90 दिनों के लिए सीमित कर दिया. यह तुरंत स्पष्ट नहीं था कि कितने चीनी पत्रकार प्रभावित हुए हैं या कितने को छोड़ने की जरूरत हो सकती है यदि उनके वीजा नहीं बढ़ाया गया.

दोनों राष्ट्रों ने हाल के महीनों में पत्रकारों को शामिल करने वाली कई टाइट-टू-टाट एक्सचेंजों का आदान-प्रदान किया है, जिसमें अमरीका कई चीनी प्रदेश या कम्युनिस्ट पार्टी समर्थित मीडिया को विदेशी दूतावास के रूप में नामित करते हैं.

चीन ने इस वर्ष तीन अमरीकी खबर पत्रों - न्यूयॉर्क टाइम्स, वॉल स्ट्रीट जर्नल व वाशिंगटन पोस्ट के अमरीकी पत्रकारों को भी निष्कासित कर दिया है व बोला है कि अगर चीनी पत्रकारों के विरूद्ध कोई कार्रवाई होती है तो अमरीका पर आगे भी कार्रवाई की जाएगी.